एक ई-मेल से उड़ गए 18 लाख रुपए, आप अपना इनबॉक्स भी चेक कर लें

कैमरून के नागरिक ने भारतीय रुपए को डॉलर में बदलने और डेनमार्क में खाता खुलवाने के नाम पर कई लोगों को ठगा है.

नोएडा: पुलिस ने कैमरून के एक नागरिक को गिरफ्तार किया है जिसने डेनमार्क में बैंक खाता खुलवाने के नाम पर फर्जीवाड़ा किया था. कैमलू न्या एलिन नाम के इस शख्स ने भारतीय मुद्रा को अमेरिकी डॉलर में बदलने का लालच देते हुए नोएडा के विकास चोपड़ा को ईमेल किया था. विकास का न डेनमार्क में खाता खुला, न ही रुपया डॉलर में बदला. पुलिस को जानकारी दी तो कैमलू को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.

पुलिस के मुताबिक होम्स 121 निवासी विकास चोपड़ा के पास कुछ महीने पहले एक ईमेल आया था. ईमेल करने वाले ने खुद को इनवेस्टमेंट मैनेजर ‘थॉमस’ बताया. उसने बताया कि वह भारतीय रुपयों को डॉलर में बदलता है. इस काम के लिए वह विकास का अकाउंट डेनमार्क में खुलवाएगा. विकास ने भरोसा करके थॉमस के अकाउंट में 8 लाख रुपए ट्रांसफर कर दिए.

जब विकास का काफी दिन तक खाता नहीं खुला तो 4  अक्टूबर को थॉमस अपने साथ दो बड़े बैग लेकर विकास के घर गया. विकास ने 9 लाख रुपए डॉलर में बदलने के लिए और दिए. थॉमस ने बताया कि इन बैगों में डॉलर हैं और बैग छोड़कर चला गया. 7 अक्टूबर को फिर एक बैग लेकर आया पहले से रखे दो में एक बैग से नोटों की गड्डी निकालकर तीसरे बैग में डाल लिये. इसके बाद 2000 के नोट के आकार के 22 कागज के टुकड़े दूसरे बैग में डाल दिए और सफेद पाउडर डाला. कहा कि दो घंटे बाद बैग खोलना, ये डॉलर बन जाएंगे.

इससे विकास के मन में शक पैदा हो गया और उसने पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने मौके पर जाकर जांच की तो आरोपी का नाम थॉमस नहीं एलिन था. वह कई साल से भारत में रह रहा है और इसी तरह ठगी कर रहा है. 2016 में भी वह दिल्ली के सिविल लाइंस से गिरफ्तार हो चुका है. जेल से छूटने के बाद फिर से ठगी के धंधे में लग गया. इस बार उसके पास से दो लॉकर बैग, 22 कागज के बंडल, एक सूटकेस और सफेद पाउडर के साथ अरेस्ट किया गया है.

ये भी पढ़ें: