Unnao Rape Case की 45 दिन लगातार सुनवाई करेंगे जज धर्मेश शर्मा, जानें इनके बारे में सब कुछ

उन्नाव रेप केस से जुड़े सभी मामले दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में ट्रांसफर किए गए हैं जहां अगले हफ्ते से सुनवाई शुरू होनी है.

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद उन्नाव रेप मामले से जुड़े सभी पांच केस दिल्ली ट्रांसफर कर दिए गए हैं. दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में अगले हफ्ते से रोज़ सुनवाई होगी. ये सुनवाई सुप्रीम कोर्ट ने 45 दिन में पूरी करने के निर्देश दिए हैं. रोज़ होने वाली ये सुनवाई जज धर्मेश शर्मा की अध्यक्षता में होगी. उनके साथ काम करने वालों के बीच उनकी तेजी से काम करने, त्वरित फैसले लेने वाले जज की छवि बनी हुई है.

धर्मेश शर्मा 9 जून 1963 को दिल्ली में पैदा हुए. दिल्ली के ही किरोड़ीमल कॉलेज से 1984 में बीकॉम ऑनर्स की डिग्री प्राप्त की. 1987 में दिल्ली यूनिवर्सिटी के लॉ कैंपस से एलएलबी की डिग्री ली. 20 अक्टूबर 1992 को दिल्ली जूडिशल सर्विस के काडर में उनकी नियुक्ति हुई.

तीस हजारी बार असोसिएशन के अध्यक्ष एडवोकेट नरेश चंद गुप्ता ने अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि जज शर्मा अच्छे इंसान हैं, जानकार और सभ्य व्यक्ति हैं. सुनवाई के दौरान वकीलों से अच्छा व्यवहार करने के लिए जाने जाते हैं. धर्मेश शर्मा दिल्ली स्टेट लीगल सर्विसेज अथॉरिटी में बड़े अफसर रह चुके हैं. 28 फरवरी 2017 को वहां से कार्यकाल खत्म हुआ.

तुरंत कार्रवाई के पक्षधर

जज शर्मा के पास पहला केस अरुणाचल प्रदेश के विधायक के बेटे निडो तानिया की हत्या का आया था. उन्होंने समाज में सभी को कानूनी सहायता उपलब्ध कराने के लिए काफी प्रयास किए हैं. DSLSA में सात वकीलों का एक पैनल बनवाया था ताकि नॉर्थ ईस्ट के लोगों को कानूनी मदद मिल सके. जज शर्मा के बारे में DSLSA में उनके साथ रह चुके एक कर्मचारी ने बताया कि वह लोगों की मदद के लिए केस में त्वरित कार्रवाई का विशेष ध्यान रखते हैं. मैंने उनसे काम में अनुशासन सीखा है.

उन्नाव रेप मामले से जुड़े सभी पांच केस जज शर्मा ही देखेंगे. इनमें पुलिस कस्टडी में हुई पीड़िता के पिता की मौत का मामला भी है. बता दें कि बीती 28 जुलाई को रायबरेली के पास अपने चाचा से मिलने गई पीड़िता की कार से ट्रक की टक्कर हो गई थी. इस टक्कर के बाद पीड़िता की चाची और मौसी की मौत हो गई थी जबकि पीड़िता और उसके वकील की हालत नाजुक बनी हुई है.

ये भी पढ़ें:

ट्रक मालिक की नंबर प्लेट मिटाने की दलील निकली झूठी, समय पर दे रहा था EMI: उन्नाव केस में नया खुलासा

Unnao Rape Case पर अक्षय कुमार ने तोड़ी चुप्पी, कहा ‘ये सिर्फ ट्वीट करके दुख जताने वाला नहीं’

उन्नाव गैंगरेप: SC ने आदेश में किया बदलाव, CBI को जांच के लिए दिया 15 दिन का समय

उन्नाव केस पर पुलिस से सवाल पूछने वाली 11वीं की छात्रा के मां-बाप को सता रहा डर

बांदा से भी है उन्नाव केस में आरोपी MLA का कनेक्‍शन, 5 हत्‍याओं के लिए जेल में कैद सेंगर का साला

जब कुलदीप सेंगर के भाई ने UP पुलिस के DSP को मार दी थी गोली, मचा था हड़कंप