रिटायर्ड HC जज ने परिवार संग मिलकर दहेज के लिए बहू को किया टॉर्चर, CCTV में कैद हुई हैवानियत

हैदराबाद में सीसीटीवी फुटेज वायरल हुआ है जिसमें एक महिला को दहेज की खातिर घर के लिविंग रूप में पीटा जा रहा है,

हैदराबाद में सीसीटीवी फुटेज वायरल हुआ है जिसमें एक महिला को दहेज की खातिर घर के लिविंग रूप में पीटा जा रहा है, फर्श पर घसीटा जा रहा है. दो छोटे बच्चे जिनमें से एक ने कुछ समय पहले ही चलना शुरू किया होगा, उसे बचाने की कोशिश करता दिखाई देता है.

महिला को तीन लोग- उसका पति, सास और ससुर जो कि हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज हैं, महिला को बुरी तरह पीटते हुए दिखाई दे रहे हैं. हिंसा का शिकार हो रही महिला 30 साल की सिंधु शर्मा हैं जो कि वशिष्ठ की पत्नी है. वशिष्ठ मद्रास हाईकोर्ट के पूर्व जज राममोहन राव का बेटा है. साथ में उनकी पत्नी दुर्गा जयलक्ष्मी है. सिंधु शर्मा ने ससुराल वालों के खिलाफ दहेज के लिए घरेलू हिंसा का मामला दर्ज कराया है.

यह घटना अप्रैल में हुई जब सिंधु शर्मा को हैदराबाद के अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया गया और मामला दर्ज किया गया. उसने अपने पति और ससुराल वालों का नाम लेते हुए कहा कि वह मारते पीटते रहते थे. चौंकाने वाला सीसीटीवी वीडियो अब सामने आया, जिस पर लोगों में गुस्सा फैल गया है.

इस घटना के कुछ अरसे बाद सिंधु शर्मा ने उसकी दोनों बेटियों को उन्हें सौंपने की मांग की. ससुराल वालों ने कई मुश्किलों के बाद छोटी बेटी, जो कि डेढ़ साल की थी और स्तनपान करती थी, को सिंधु को सौंप दिया. बाद में उच्च न्यायालय के दखल देने पर ससुराल वालों को बड़ी बेटी को भी सौंपने के लिए मजबूर होना पड़ा. यह दोनों बच्चियां अपनी मां पर हुए हमले की गवाह हैं और सीसीटीवी फुटेज में दिख रही हैं.

दहेज के लिए प्रताड़‍ित कर रहा था परिवार

सिंधु शर्मा ने कहा कि “वे बड़ी बेटी को नहीं देना चाहते थे क्योंकि उनकी बड़ी बेटी इस हादसे की इकलौती गवाह थी और वह बताएगी कि मेरे साथ क्या हो रहा था.” उन्होंने कहा कि “मैंने पुलिस को वीडियो रिकॉर्डर की जांच करने के लिए कहा था जिसमें उनके ससुराल वाले उन्हें बुरी तरह से पीट रहे हैं.

सिंधु शर्मा कहती हैं कि “मेरी दो बेटियां हैं. क्या उन्हें पिता के प्यार की ज़रूरत नहीं है?” उन्होंने कहा कि 2012 में शादी के तुरंत बाद परेशानी शुरू हो गई थी. उनकी सास उन्हें बेइज्‍जत करती थीं और उनका शारीरिक और मानसिक शोषण करती थीं. दहेज के लिए परेशान करती थीं.

राममोहन राव और उनके परिवार ने सिंधु शर्मा के लगाए आरोपों पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया, लेकिन उन्होंने अदालत में एफिडेविट दाखिल किया है. उनके अनुसार, घटना की रात सिंधु शर्मा ने खुदकुशी का प्रयास किया था. छह हफ्ते में यह उनकी दूसरी कोशिश थी. उन्होंने कहा कि यही कारण है कि उन्होंने उसे खींच लिया और उनपर सख्ती करने की कोशिश की.

परिवार के लोगों ने बताया कि सिंधु शर्मा अपने कपड़ों में ज़हरीली चीज़ें छुपाकर रखती थी और जानबूझकर मदद के लिए चिल्लाती. बैंगलोर मिरर ने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि परिवार सिंधु की हरकतों से काफी परेशान था कि कही वह अपने और दो छोटे बच्चों को कुछ कर न लें, जैसा कि उन्होंने पहले भी कई बार कोशिश कि थी.

ये भी पढ़ें

पति को नशे की गोलियां खिलाकर प्रेमी संग बेडरूम में थीं पत्‍नी, अचानक उसे आया होश और…

पकड़ा गया चाकू की नोक पर विवाहिता से बलात्कार करने वाला आरोपी, हथकड़ी तोड़ हुआ था फरार