सारण में नाबालिग से गैंगरेप, कैमूर में असफल रहने पर पीड़िता को पहाड़ी से फेंका; बिहार को ये हुआ क्या है?

रात भर छात्रा जंगल में रोती चिल्लाती रही, लेकिन गांव से दूर होने के कारण उसकी आवाज किसी ने नहीं सुनी.

देश में आए दिन महिलाओं के साथ यौन शोषण और रेप के मामले सामने आते रहते हैं. बिहार में लड़कियों से दरिंदगी के दो मामले सामने आए हैं. पहला मामला सारण का है, जहां पर 5 युवकों ने एक नाबालिग लड़की का अपहरण कर उसके साथ गैंगरेप जैसे जघन्य अपराध को अंजाम दिया. यह मामला सारण जिले के दाउदपुर थाना क्षेत्र का है.

बताया जा रहा है कि पीड़ित लड़की गुरुवार की शाम अपनी छोटी बहन के साथ किसी को खाना देने जा रही थी. इस दौरान रास्ते में 5 युवकों ने लड़की को अगवा कर लिया और उसे सुनसान जगह पर ले गए. इसके बाद एक-एक कर आरोपियों ने लड़की के साथ रेप किया. पीड़िता की छोटी बहन ने घर जाकर इसकी जानकारी परिजनों को दी, लेकिन तब तक सभी आरोपी फरार हो चुके थे.

इसके बाद पीड़िता को लेकर परिजन पुलिस थाने पहुंचे और आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई. पुलिस ने छात्रा का मेडिकल कराया है. वहीं पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए कई जगहों पर छापेमारी की, लेकिन उन्हें कामयाबी हाथ नहीं लगी.

मदद के लिए चिल्लाती रही छात्रा

दूसरा मामला कैमूर का है, यहां जब आरोपी नाबालिक छात्रा से दुष्कर्म करने में असफल रहे तो उन्होंने पीड़िता को पहाड़ी से फेंक दिया. छात्रा को भभुआ सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां पर उसकी हालत नाजुक बताई जा रही है.

यह मामला चैनपुर के बडकी आमाव का है. बताया जा रहा है कि छात्रा शाम को शौच करने गांव के पास झाड़ियों में गई थी कि उसी दौरान तीन युवकों वहां पहुंच गए. युवकों ने पीड़िता का मुंह बंद किया और उसे बाइक पर अपने साथ बिठा कर ले गए.

वे छात्रा को सुनसान इलाके में ले गए, जहां पर आरोपियों ने उसके साथ रेप करने का प्रयास किया. छात्रा चिल्लाती रही और अपने साथ होती दरिंदगी का विरोध करती रही. इससे गुस्साए आरोपियों ने छात्रा के साथ मारपीट की और फिर उसे पहाड़ी से नीचे फेंक कर फरार हो गए.

रात भर छात्रा जंगल में रोती चिल्लाती रही, लेकिन गांव से दूर होने के कारण उसकी आवाज किसी ने नहीं सुनी. आज सुबह एक पशुपालक को छात्रा मिली, जिसके बाद उसने उसे अस्पताल पहुंचाया. फिलहाल पुलिस ने इस मामले में आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कर ली है और आरोपियों की तलाश में जुट गई है.

 

ये भी पढ़ें-   जनरल बाजवा को सता रहा तख्‍तापलट का डर? PAK आर्मी के तीन मेजर बर्खास्‍त

घाटी में हथियारों की सप्लाइ नहीं कर पा रहा पाकिस्तान, एक और सर्जिकल स्ट्राइक को तैयार है सेना