गाजियाबाद: पत्रकार को सरेआम मारी गोली, पुलिस ने गिरफ्तार किए 9 बदमाश, चौकी इंचार्ज सस्पेंड

पत्रकार विक्रम की बहन का कहना है कि इलाके के बदमाश उनकी बेटी (विक्रम की भांजी) पर गंदे कमेंट करते थे. इसे लेकर पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई थी. लेकिन बदमाशों के खिलाफ सख्त कार्रवाई नहीं हुई थी.
Goons shoot journalist in Ghaziabad, गाजियाबाद: पत्रकार को सरेआम मारी गोली, पुलिस ने गिरफ्तार किए 9 बदमाश, चौकी इंचार्ज सस्पेंड

दिल्ली से सटे गाजियाबाद (Ghaziabad) में सोमवार रात करीब 10 बजे बदमाशों ने एक स्थानीय पत्रकार (Journalist) को सरेआम गोली मार दी. पत्रकार की हालत अभी नाजुक बनी हुई है. यह घटना गाजियाबाद के विजयनगर इलाके की है. बदमाशों की पूरी घटना CCTV कैमरे में कैद हो गई है.

CCTV फुटेज के मुताबिक बाइक पर अपनी दो बेटियों के साथ जा रहे पत्रकार को कुछ बदमाश रोकते हैं और बाइक से गिराकर पीटना शुरू कर देते हैं. विक्रम की बेटियां मदद के लिए इधर उधर भागती हैं. विक्रम भी जान बचाने के लिए भागने के की कोशिश करता है. इसी बीच एक बदमाश पीछे से आता है और विक्रम के सिर में पीछे से गोली मार देता है और विक्रम को तड़पता छोड़कर बदमाश मौके से फरार हो जाते हैं.

Goons shoot journalist in Ghaziabad, गाजियाबाद: पत्रकार को सरेआम मारी गोली, पुलिस ने गिरफ्तार किए 9 बदमाश, चौकी इंचार्ज सस्पेंड

बताया जा रहा है कि विक्रम, प्रताप विहार में अपनी बहन के घर से भांजी की जन्मदिन पार्टी अटेंड करके घर वापस जा रहा था. लेकिन गली से निकलते ही उनपर जानलेवा हमला हो गया. विक्रम की बहन का कहना है कि इलाके के बदमाश उनकी बेटी (विक्रम की भांजी) पर अभद्र टिप्पणी करते थे. ये सिलसिला 1 साल से चला आ रहा था, लेकिन शिकायत के बावजूद पुलिस बदमाशों पर सख्त कार्रवाई की जगह आपसी समझौता करवा देती थी.

बताया जा रहा है कि 16 जुलाई को भी बदमाशों ने ऐसी ही हरकत की थी. पुलिस को शिकायत भी दी गई लेकिन पुलिस की तरफ से कोई सख्त कार्रवाई नहीं की गई. जानकारी के मुताबिक वारदात से कुछ घंटे पहले भी परिजनों ने बदमाशों की शिकायत की थी. बदमाशों का इलाके में खौंफ इतना है कि वारदात को लेकर लोग कुछ भी बोलने या बताने को तैयार ही नहीं हैं.

बता दें कि विक्रम के सिर में गोली लगने पर उन्हें गंभीर हालत में यशोदा अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पुलिस का कहना है कि जो भी आरोपी होगा उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी.

पुलिस के मुताबिक पत्रकार पर जानलेवा हमले के आरोप में तीन लोगों के खिलाफ नामजद और कुछ अन्य लोगों के खिलाफ अज्ञात में मुकदमा दर्ज कराया गया है. घटना के जांच और आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (जनपद गाजियाबाद) के द्वारा पुलिस की छह टीमें लगाई गई हैं.

पुलिस की कार्यवाही में तीनों नामजद आरोपियों में से दो आरोपी रवि और छोटू को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है. घटना में शामिल अन्य सात और आरोपियों को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. सभी आरोपियों को जेल भेजने की कारवाई की जा रही है.

गिरफ्तार मुख्य आरोपी रवि ने बताया कि विक्रम जोशी के ऊपर उसके द्वारा हमला कराया गया था. एक आरोपी आकाश बिहारी की गिरफ्तारी की कोशिश जारी है, बताया जा रहा है कि इसी ने गोली चलाई थी. सूचना मिलने के बाद भी कार्रवाई ना करने पर चौकी इंचार्ज (प्रताप विहार) सब इंस्पेक्टर राघवेंद्र को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है.

पुलिस सूत्र बताते हैं विक्रम जोशी और आरोपी रवि के बीच काफी समय से विवाद भी चल रहा था. दोनों के बीच पहले मारपीट भी हुई थी. फिलहाल पुलिस आपसी रंजिश के एंगल से भी जांच कर रही है.

Related Posts