आखिर पकड़ा गया डॉन, गुजरात ATS टीम की बड़ी कामयाबी

गुजरात एटीएस टीम की 4 महिला पुलिसकर्मियों ने बोटाद के जंगल से एक नामी-गिरामी डॉन को गिरफ्तार कर बहादुरी की मिसाल कायम की है.

अहमदाबाद: हाल ही में गुजरात की एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड (ATS) टीम को बड़ी सफलता हासिल की है. इस टीम की 4 महिला पुलिसकर्मियों ने एक बड़े डॉन को बोटाद के जंगल से गिरफ्तार किया है. महिला एटीएस की टीम ने जिस अपराधी को पकड़ा है, उसका नाम जुसब अल्लारखा है. इस अपराधी की खिलाफत में जूनागढ़ में 15 से ज्यादा हत्या और लूट के मामले दर्ज हैं.

इस मामले में गुजरात एटीएस की टीम को खबर मिली थी कि बोटाद के जंगल में गैरकानूनी और संदिग्ध गतिविधियां जारी हैं. इसके बाद गुजरात एटीएस के डीआईजी हिमांशु शुक्ला ने एक टीम बनाई. इस टीम में उन्होंने 4 महिला पुलिस इंस्पेक्टर्स को रखा.

बीते शनिवार की देर रात इस टीम ने बोटाद के जंगल में सर्च ऑपरेशन शुरू किया. इसके बाद महिला टीम ने अपने साहस की बदौलत नामी डॉन जुसब अल्लारखा को गिरफ्तार कर लिया. बताया जा रहा है कि अपराधी बहुत सारी वारदातों को अंजाम दे चुका है.

बता दें कि फिलहाल गुजरात एटीएस के पास इन चार महिला पुलिसकर्मियों को शामिल करते हुए, केवल 42 लोगों का स्टाफ है. तिस पर महिला कर्मियों की काबिलियत से इस शातिर डॉन की गिरफ्तारी चर्चा और शाबाशी का विषय बनी हुई है.

15 से ज्यादा हत्या और लूट का आरोपी जुसब अल्लारखा जूनागढ़ के लोगों और पुलिस के लिए सिर दर्द बना हुआ था. अपराधी के पकड़े जाने के बाद वहां के लोगों और पुलिस ने चैन की सांस ली है.