ऑनर किलिंग के चलते भाई ने उजाड़ा बहन की मांग का सिंदूर, तीन गिरफ्तार

जिस बहन को राखी पर उसकी रक्षा और जिंदगी में खुशियों का वचन दिया था वहीं भाई ही बहन के सुहाग का कातिल बन गया.

हरयाणा के गुहला चीका के गांव मेंगड़ा में 2 दिन पहले हुई ज्वैलर की हत्या के मामले में पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है. पुलिस ने हत्या के मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. आरोपियों के कब्जे से चार देसी कट्टे और 13 जिंदा कारतूस बरामद हुए हैं.

एसपी कैथल विरेंद्र विज ने आज चीका पुलिस स्टेशन में पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि मृतक प्रिंस का 3 साल पहले प्रेम विवाह हुआ था, जिससे लड़की का भाई और परिवार वाले नाखुश थे. जिसके चलते लड़की के भाई ने प्रिंस के माथे में गोली मारकर हत्या कर दी थी. इस हत्या में प्रिंस के साथ उसके दो दोस्त भी शामिल थे जिनको पुलिस ने आज पंजाब हरियाणा के बॉर्डर गांव सदरेडी के समीप से गिरफ्तार कर लिया है. एसपी वीरेंद्र ने बताया कि इन तीनों आरोपियों का अपराधिक रिकॉर्ड है बलवान सिंह निवासी निम्वाला, मनोज निवासी कुरुक्षेत्र, प्रवीण निवासी डांड जिन पर हत्या की कोशिश मारपीट के कई मामले दर्ज हैं.

ऑनर किलिंग के चलते भाई ने अपनी बहन की मांग का सिंदूर उजाड़ा था. जिस बहन को राखी पर उसकी रक्षा और जिंदगी में खुशियों का वचन दिया था वहीं भाई ही बहन के सुहाग का कातिल बन गया. सुनीता देवी पुत्री गुरदीप सिंह ने 3 साल पहले मृतक प्रिंस से प्रेम विवाह किया था. मृतक प्रिंस और सुनीता देवी के 3 साल हंसी-खुशी बीत गए थे और दोनों अपनी जिंदगी में हंसी खुशी और मस्त थे. मृतक प्रिंस की दो बेटियां थी जिनमें से एक बेटी का जन्म मात्र 15 दिन पहले हुआ है.

सुनीता देवी के प्रेम विवाह से उसका भाई परिवार वाले नाराज थे. जो आए दिन मृतक प्रिंस को जान से मारने की धमकी देते थे. मगर प्रिंस ने कभी भी इस बात को सहजता से नहीं लिया था. वह हर रोज की भांति 2 दिसंबर को भी अपनी ज्वेलर्स की दुकान पर बैठा था तभी मृतक का साला और दो अन्य लोग आए जिन्होंने प्रिंस पर ताबड़तोड़ फायरिंग की और दो गोलियां प्रिंस के माथे में लगी जिससे प्रिंस की मौके पर ही मौत हो गई.