गे पार्टनर ने की थी इसरो साइंटिस्ट की हत्या, इस वजह से उतारा मौत के घाट

आरोपी की पहचान 39 साल के जनगामा श्रीनिवास के रूप में हुई है. वह एक प्राइवेट पैथालॉजी लैब का लैब टेक्नीशियन है.

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के वैज्ञानिक एस सुरेश कुमार की हत्याकांड में पुलिस ने नया खुलासा किया है. हत्या के मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है.

आरोपी की पहचान 39 साल के जनगामा श्रीनिवास के रूप में हुई है. आरोपी एक प्राइवेट पैथालॉजी लैब का लैब टेक्नीशियन है. हैदराबाद पुलिस के मुताबिक आरोपी ने पैसे के लिए सुरेश कुमार की हत्या कर मौत के घाट उतार दिया.

चाकू लेकर घर गया था आरोपी

पुलिस जांच में पता चला कि श्रीनिवास, वैज्ञानिक सुरेश कुमार का गे-सेक्स पार्टनर था. वह सुरेश कुमार से सेक्स के बदले पैसे मांग रहा था. 30 अक्टूबर को आरोपी ने सुरेश कुमार के घर चाकू लेकर गया था.

पहले दोनों ने शारीरिक संबंध बनाए. इसके बाद आरोपी ने फिर रुपयों की मांग की. बताया जा रहा है कि इसी बात को लेकर दोनों के बीच विवाद हो गया. इस दौरान आरोपी ने सुरेश कुमार पर चाकू से हमला कर दिया. हमले के बाद सुरेश कुमार की मौत हो गई.

20 साल से हैदराबाद में रह रहे थे

सुरेश कुमार की उम्र 56 साल थी. वह इसरो में नेशनल रिमोट सेंसिंग सेंटर (NRSC) के वैज्ञानिक थे. पुलिस कमिश्नर अंजनी कुमार ने आरोपी श्रीनिवास की गिरफ्तार की पुष्टि की है.

सुरेश कुमार पिछले 20 साल से हैदराबाद में रह रहे थे. उनकी पत्नी भी हैदराबाद में ही जॉब करती थीं, लेकिन साल 2005 में उनका चेन्नई ट्रांसफर हो गया था. सुरेश कुमार का बेटा अमेरिका में रहता है, जबकि बेटी दिल्ली में रहती है.

फोरेंसिक जांच में हुआ खुलासा

आपको बता दें कि एक अक्टूबर को सुरेश कुमार की हैदराबाद स्थित उनके अपार्टमेंट में हत्या कर दी गई थी. वो अपने अपार्टमेंट में अकेले रहते थे. उनका परिवार चेन्नई में रहता है.

सुरेश कुमार की हत्या के बाद मामले की जांच के लिए पुलिस ने तीन टीमें बनाई थी. पुलिस ने इस मामले की जांच की तो फोरेंसिक सबूत से साबित हुआ कि इस हत्या का जिम्मेदार जनगामा श्रीनिवास है.

ये भी पढ़ें-

बेखौफ बदमाशों का कहर, SP ऑफिस के सामने रिटायर्ड दरोगा की हत्या, पेंशन के 50 हजार भी लूटे

दिल्ली: नरेला इलाके में पुलिस की मुठभेड़, बदमाश नीरज गोगा घायल

Related Posts