आधार कार्ड पर लिखा था जेल का पता, मर्डर केस में फिर सलाखों के पीछे पहुंचा अपराधी

सनी के आधार कार्ड पर आवासीय पते के तौर पर लखनऊ जेल का पता लिखा था. पुलिस ने जांच की तो पता चला कि वह गैंगस्टर एक्ट के तहत जेल गया था.
Address On Aadhaar Card, आधार कार्ड पर लिखा था जेल का पता, मर्डर केस में फिर सलाखों के पीछे पहुंचा अपराधी

उत्तर प्रदेश में एक घटना में आरोपी को उसके आधार कार्ड के माध्यम से पकड़े जाने की जानकारी सामने आई है. दरअसल आरोपी के आधार कार्ड में आवासीय पते पर लखनऊ जेल का पता लिखा हुआ था, जिससे आरोपी सनी चौहान को मिनी ट्रक चालक की हत्या के आरोप में वापस जेल भेज दिया गया.

पिछले महीने लखनऊ के बाहरी इलाके गोसाईंगंज में शेखनापुर क्षेत्र में सड़क के किनारे एक शव मिला था, जो मिनी ट्रक चालक संतोष तिवारी (40) का था. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ था कि सिर में चोट के कारण उनकी मौत हुई थी.

गोसाईगंज के एसएचओ डी.पी कुशवाहा ने कहा, “जब जांच के लिए हमने कई लोगों को बुलाया तो देखा कि सनी के आधार कार्ड पर आवासीय पते के तौर पर लखनऊ जेल का पता लिखा था. सनी ने दावा किया कि उसके पिता लखनऊ जेल में काम करते हैं, लेकिन जब हमने जांच की तो पता चला कि वह गैंगस्टर एक्ट के तहत जेल गया था.”

जांच के दौरान पुलिस को जानकारी मिली कि 24 फरवरी को ट्रांसपोर्टर तक ट्रक को सनी ने ही पहुंचाया था और उसी दौरान तिवारी मृत पाया गया था. वहीं पूछताछ के दौरान सनी ने स्वीकार किया कि शराब पीने के बाद हुए झगड़े में तिवारी की हत्या हुई थी और वह उन चार लोगों में शामिल है, जिन्होंने हत्या की थी.

तिवारी ने उसके दोस्तों से शराब की एक बोतल छीन ली थी, जिससे उसकी हत्या हुई. सनी को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया गया है, वहीं हत्या में शामिल उसके फरार दोस्तों की तलाश की जा रही है. (IANS)

Related Posts