‘नोट तक धोकर सुखाती थी वो’, बीवी को सफाई की सनक थी, पति ने कुल्‍हाड़ी से काट डाला

महिला अपने 12 और 7 साल के बच्‍चों को दिन में कई बार नहलाती थी. यहां तक कि पति उसे जो रुपये लाकर देता, वह उन नोटों को धो डालती, फिर सुखाती.
Karnataka Man Murders wife, ‘नोट तक धोकर सुखाती थी वो’, बीवी को सफाई की सनक थी, पति ने कुल्‍हाड़ी से काट डाला

कर्नाटक के एक शख्‍स ने अपनी पत्‍नी की सनक से तंग आकर उसकी हत्‍या कर दी. मामला मैसूर का है. यहां 40 वर्षीय शांतामूर्ति ने अपनी 38 साल की पत्‍नी पुत्‍तामणि की हत्‍या कर दी. दोनों की शादी 15 साल पहले हुई थी और महिला को सफाई का ‘जुनून’ था. इसे लेकर दोनों की अक्‍सर लड़ाई होती थी.

‘सफाई की सनक’

पड़ोसियों और रिश्‍तेदारों का कहना है कि पुत्‍तामणि को उसके पति ने इसलिए मारा क्‍यों‍कि वह ‘नैतिकतावाद’ की कट्टर समर्थक थी. एक पड़ोसी ने PTI से बातचीत में कहा, “मैंने पुत्‍तामणि जैसा कोई नहीं देखा. पिछले आठ साल से, वह एकदम कट्टरता से अंधविश्‍वास फॉलो करती थी. हम उसके घर में जाने से डरते थे क्‍योंकि वह घुसने से पहले नहाने को कहती थी.”

पुत्‍तामणि अपने 12 और 7 साल के बच्‍चों को दिन में कई बार नहलाती थी. यहां तक कि शांतामूर्ति उसे जो रुपये लाकर देता, वह उन नोटों को धो डालती, फिर सुखाती. एक रिश्‍तेदार ने कहा, “पुत्‍तामणि को लगता था कि करेंसी नोट्स को अलग-अलग जाति के लोग छूकर अपवित्र कर देते हैं.”

टूट गया सब्र का बांध

मंगलवार को शांतामूर्ति के सब्र का बांध टूट गया. खेतों में एक तीखी बहस के बाद, उसने कुल्‍हाड़ी उठाई और पुत्‍तामणि को काट डाला. बाद में वह घर आया और फांसी लगाकर जान दे दी. किसी को नहीं पता था कि क्‍या हुआ है जबतक बच्‍चे स्‍कूल से नहीं लौटे.

बच्‍चे घर आए तो उन्‍होंने पिता को छत से लटकता पाया. पड़ोसियों को खबर की तो उन्‍होंने पुत्‍तामणि को ढूंढ़ना शुरू किया. उसकी लाश खेत में मिली.

ये भी पढ़ें

मां ने जहर देकर की इंजीनियर बेटे की हत्या, लाश के टुकड़े-टुकड़े कर पूरे शहर में बिखेरे

छोटा शकील का दावा, ‘बकवास है कसाब की सुपारी देने की बात, किताब बेचने के लिए झूठ बोल रहे मारिया’

Related Posts