485 करोड़ के बिटकॉइन स्कैम मास्टरमाइंड की हत्या केस में खुलासा, साथियों ने टॉर्चर करके मार डाला

485 करोड़ के 'बिटकॉइन स्कैम' के मास्टरमाइंड अब्दुल शकूर की हत्या की गुत्थी सुलझाने का दावा देहरादून पुलिस ने किया है.

देहरादून: 485 करोड़ के ‘Bitcoin scam’ के मास्टरमाइंड अब्दुल शकूर की हत्या की गुत्थी सुलझाने का दावा पुलिस ने किया है. पुलिस ने अब्दुल के 5 साथियों को हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है. अब्दुल शकूर की हत्या कर लाश को बुधवार की रात एक प्राइवेट हॉस्पिटल के इमरजेंसी वॉर्ड में छोड़कर हत्यारोपी फरार हो गए थे.

इस केस के बारे में बात करते हुए देहरादून के एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने बताया कि अब्दुल शकूर की हत्या का मुख्य कारण सैकड़ों करोड़ की crypto-currency थी. पकड़े गए आरोपी शकूर की टीम में शामिल थे. शकूर को मारने से पहले उन्होंने प्रेम नगर इलाके के एक खाली घर में उसे टॉर्चर किया था. शुक्रवार को पुलिस ने फारिस ममनून, अरविंद, आसिफ अली, आफताब और सुफैल मुख्तार को गिरफ्तार किया. ये सभी केरल के रहने वाले हैं.

क्या था बिटकॉइन स्कैम

शकूर ने कथित तौर पर केरल के मंजेरी कस्बे में रहने वाले लोगों से बिटकॉइन में इनवेस्ट करने के लिए 485 करोड़ रुपए इकट्ठा किए थे. बिटकॉइन में नुकसान होने के बाद शकूर और उसके सहयोगी केरल से भाग निकले. केरल के लोग इनके पीछे पड़े हुए थे जिनकी वजह से इन्हें बार बार अपना ठिकाना बदलना पड़ रहा था.

पूछताछ में आरोपियों ने किया खुलासा

पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो आरोपियों ने बताया कि शकूर ने अपने सबसे खास साथी आशिक को धोखा दिया था. उससे कहा कि मेरा बिटकॉइन अकाउंट हैक हो गया है. वह लोगों को पैसा वापस करने के लिए अपनी क्रिप्टोकरेंसी लॉन्च करेगा. आशिक को इस बात पर यकीन नहीं हुआ. उसने बाकी साथियों के साथ मिलकर शकूर को उस प्रेम नगर के घर में बंधक बनाया. उसके बिटकॉइन का पासवर्ड जानने के लिए टॉर्चर किया जिससे उसकी मौत हो गई.

ये भी पढ़ें:

यूपी: 9 दिन में ट्रायल पूरा, 4 साल की बच्‍ची से रेप के दोषी को उम्रकैद

पी चिदंबरम की गिरफ्तारी पर इंद्राणी मुखर्जी ने जताई खुशी, कहा ‘ये अच्छी खबर’

‘मुंबई में कुछ बड़ा होने वाला है’, NIA को फोन पर दी धमकी, हुआ गिरफ्तार