कोलकाता: मोबाइल के चार्जर से पति का गला घोंटा-मिटाया सबूत, महिला वकील को उम्रकैद की सजा

रजत डे के पिता ने एफआईआर दर्ज कराई थी. परिवार ने आरोप लगाया था कि अनिंदिता ने अपने पति की हत्या कर दी थी. आरोपी को पुलिस ने 29 नवंबर को गिरफ्तार कर लिया था.
kolkata lawyer jailed killing husband, कोलकाता: मोबाइल के चार्जर से पति का गला घोंटा-मिटाया सबूत, महिला वकील को उम्रकैद की सजा

बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले की फास्ट ट्रैक कोर्ट (Fast track court) ने एक वकील को मोबाइल फोन चार्जर की तार से पति की हत्या करने के आरोप में उम्रकैद की सजा सुनाई है. अतिरिक्त जिला और सत्र न्यायाधीश सुजीत कुमार झा ने पति के हत्या के मामले में सोमवार को वकील अनिंदिता पाल (Anindita Pal) को दोषी ठहराया है. कोर्ट ने उन्हें आजीवन कारावास की सजा सुनाई और 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है.

कोर्ट ने आरोपी को सबूतों को गायब करने का दोषी पाया है और ऐसा करने के लिए एक साल की सजा सुनाई है. दोनों मामलों में एक साथ सजा सुनाई गई. सरकारी वकील बिभास चटर्जी ने आरोपी के लिए मौत की सजा की मांग की और दावा किया कि यह एक पहले से सोची साजिश थी.

परिस्थितियों के आधार पर उम्रकैद की सजा

कोर्ट ने परिस्थितियों के आधार पर आजीवन कारावास (Life Imprisonment) की सजा सुनाई है. हालांकि इस मामले में कोई प्रत्यक्षदर्शी नहीं है. उन्होंने कहा कि उन्हें फंसाया जा रहा है और अपनी आखिरी सांस तक लड़ाई लड़ेगी.

पीटीआई के मुताबिक मुकदमे के दौरान, अभियोजन पक्ष ने दावा किया था कि 24 और 25 नवंबर 2018 की रात को अनिंदिता पाल ने कोलकाता के अपने फ्लैट में एक मोबाइल चार्जर से अपने पति रजत डे (Rajat Dey) की गला घोंटकर हत्या कर दी थी. उन्होंने दलील दी कि दोनों पति-पत्नी के बीच तनावपूर्ण संबंध थे जिसके चलते रजत डे की हत्या हुई.

कोलकाता हाईकोर्ट में वकील थे पति-पत्नी

वहीं अनिंदिता पाल का कहना है कि उनके पति दूसरे कमरे में सो रहे थे, उनके कमरे से आवाज आने के बाद वो वहां पहुंची थी. मामले में रजत डे के पिता ने एफआईआर दर्ज कराई थी जिसमें परिवार ने आरोप लगाया था कि अनिंदिता ने अपने पति की हत्या कर दी थी. आरोपी को पुलिस ने 29 नवंबर को गिरफ्तार कर लिया था. इस मामले में मुकदमे और दलीलें इस साल मार्च में पूरे हुए. अनिंदिता पाल और उनके पति दोनों कोलकाता हाइकोर्ट में वकील थे.

Related Posts