आधार कार्ड में नाम बदलवाने के लिए इतना ‘रिस्की’ काम, राजनाथ सिंह के काफिले के सामने लेटा शख्स

राजनाथ सिंह के काफिले के सामने आए शख्स की मांग थी कि उसे प्रधानमंत्री से मिलवाया जाए.

देश की राजधानी दिल्ली में देश के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक हो गई. रक्षामंत्री के काफिले के सामने एक शख्स आ गया जिसे तत्काल प्रभाव से दबोच लिया गया. शख्स अपने आधार कार्ड पर नाम बदलवाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी से मिलना था. संसद भवन के पास ये घटना घटी जहां शख्स बार – बार प्रधानमंत्री से मिलने की जिद कर रहा था.

ये सीन मार्केट में आते ही ‘ओह माय गॉड’ फिल्म में कानजी लालजी मेहता(परेश रावल) द्वारा कोर्ट में दी गई एक दलील याद आ गई. कानजी भाई ने कहा था ‘आपके घर में बिजली जाती है तो आप रिलायंस के ऑफिस में फोन करते हैं या सीधे मुकेश अंबानी को फोन करते हैं कि मेरे यहां लाइट नहीं आ रही, आकर सही करो.’

हिरासत में लिए गए 35 वर्षीय शख्स का नाम विश्बर दास गुप्ता है. ये उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले का रहने वाला है और मानसिक रूप से विक्षिप्त बताया जा रहा है. बस इसी ‘बताए जा रहे’ पर उसका जुर्म तो खतम हो जाता है और सुरक्षा में लगे लोगों का जुर्म शुरू होता है. किस पिनक में वो थे जब वो आदमी गाड़ी के सामने आ गया?

दोपहर 1.25 बजे संसद के पास सड़क पर ये शख्स लेट गया. किसी को न बताना कि दिल्ली की सड़क इतनी साफ है कि कोई उस पर लेट भी सकता है नहीं तो पूरे देश से सड़कें सुधारने की मांग उठने लगेगी. फिर प्रधानमंत्री से नहीं, सड़क और परिवहन मंत्री से मिलने के लिए लोग काफिले के सामने लेटा करेंगे.

ये भी पढ़ें:

‘फांसी दे दो या कत्ल कर दो, फर्क नहीं पड़ता’, हैदराबाद के दरिंदों को नहीं अपनाएंगे घरवाले
प्रियंका गांधी की सुरक्षा में चूक पर रॉबर्ट वाड्रा बोले- जवाब दो सरकार, हम कब और कहां सुरक्षित ?