बीवी के बदले 71 भेड़ें पाने वाला रह गया हैरान, पुलिस ने चोरी के आरोप में भेजा जेल

गोरखपुर के राजेश ने रविवार को उस वक्त ठगा हुआ महसूस किया जब पुलिस ने पंचायत के फैसले को पलटते हुए उससे 71 भेड़ें छीन लीं, जो उसे बीवी के बदले मिली थीं.

गोरखपुर के राजेश ने रविवार को उस वक्त ठगा हुआ महसूस किया जब पुलिस ने पंचायत के फैसले को पलटते हुए उससे 71 भेड़ें छीन लीं, जो उसे बीवी के बदले मिली थीं. पुलिस ने उसके भाई और एक रिश्तेदार को भेड़ें चुराने के आरोप में जेल भेज दिया. राजेश ने जिससे भेड़ें ली थीं वो उसकी पत्नी के साथ फरार है.

पूरा मामला गोरखपुर के खोराबार इलाके का है. उमेश नाम का आदमी राजेश की पत्नी को लेकर कहीं चला गया. ये मामला थाने तक पहुंचा तो दोनों पक्षों को बुलाया गया. दोनों पक्ष पहुंचे लेकिन राजेश की पत्नी उमेश के साथ थाने से निकल गई. राजेश और उमेश में इस बात पर झगड़ा हो गया. फिर बिरादरी की पंचायत बैठी.

Gorakhpur crime, बीवी के बदले 71 भेड़ें पाने वाला रह गया हैरान, पुलिस ने चोरी के आरोप में भेजा जेल

पंचायत ने फैसला किया कि उमेश को राजेश की पत्नी की जगह 71 भेड़ें देनी पड़ेंगी. राजेश 71 भेड़ें लेने पर राज़ी हो गया और उसे भेड़ें मिल गईं. शुक्रवार को मामला और फैल गया जब उमेश के पिता रामनरेश ने पुलिस में शिकायत कर दी कि उसे भेड़ें वापस दिलाई जाएं. उमेश की गलती है तो उसे सज़ा दी जाए.

बीवी मिली न भेड़ें

रामनरेश ये शिकायत लेकर खोराबार थाने गया था, वहां से पुलिस ने उसे थाना पिपराइच भेजा. पिपराइच थाने में बताया गया कि घटना बेलीपार थाने की है, वहां जाओ. रविवार को रामनरेश बेलीपार थाने पहुंचा. वहां राजेश अपने एक भाई और एक रिश्तेदार के साथ भेड़ें लेकर पहुंचा गया.

पुलिस ने भेड़ चोरी का मुकदमा दर्ज किया, राजेश के दोनों रिश्तेदारों को अरेस्ट कर लिया. भेड़ें रामनरेश को सौंप दी गईं. राजेश हैरान रह गया क्योंकि उसे न बीवी मिली न भेड़ें. राजेश की मां ने कहा कि मेरे बेटों मे भेड़ें नहीं चुराईं, पंचायत ने दिलाईं. बहू वो गहने भी ले गई है जो हमने खरीदकर दिए थे. अब भेड़ चोरी का आरोप रामनरेश पर लगा दिया गया. फिर से पंचायत ने राजेश को 71 भेड़ें लौटाने का फैसला सुनाया है.