पिता ने बेटे को फांसी पर लटका दिया, बेटी वीडियो बनाते-बनाते दया की भीख मांगती रही

लड़की ने अपने किसी परिचित को क्लिप भेजी होगी, जो अब वायरल हो गई है.
पिता, पिता ने बेटे को फांसी पर लटका दिया, बेटी वीडियो बनाते-बनाते दया की भीख मांगती रही

नई दिल्‍ली: कर्ज के बोझ तले डूबे एक परिवार ने मौत का रास्‍ता चुना. बेंगलुरु के एक शख्‍स ने अपने बेटे को पंखे से जबरन लटका कर मार दिया. पत्‍नी को भी आत्‍महत्‍या के लिए मना लिया. आरोपी शख्‍स की बेटी ने मोबाइल पर पूरा वीडियो रिकॉर्ड कर लिया.

पुलिस के अनुसार, सुरेश बाबू एक निजी कंपनी में सेल्‍स एक्‍जीक्‍यूटिव है. उसने बताया कि परिवार ने सुसाइड पैक्‍ट बनाया था, मगर उसकी पत्‍नी गीता बाई और बेटे वरुण की ही जान गई. बाबू ने कहा कि वह भी आत्‍महत्‍या कर लेता अगर उसकी 17 साल की बेटी ने अलार्म नहीं बजाया होता.

हालांकि घर के भीतर क्‍या हुआ, इसका एक वीडियो वायरल हो रहा है. 3 मिनट 47 सेकेंड के इस वीडियो को बाबू की बेटी ने शूट किया था. वीडियो में दिख रहा है कि पिता एक छोटी मेज पर खड़ा होकर जबरन वरुण को पंखे से लटका रहा है. गीता और उसकी बेटी रोते हुए इधर-उधर भागते नजर आ रहे हैं. लड़की मराठी में अपने पिता से भाई को छोड़ देने को कहती सुनाई दे रही है.

वीडियो अचानक खत्‍म हो जाता है जब गीता अपनी बेटी के हाथ से फोन छीन लेती है. पुलिस का मानना है कि गीता ने इसके बाद अपनी जान दे दी. पुलिस के अनुसार, लड़की ने किसी को क्लिप भेजी होगी जो अब वायरल हो गई है. पुलिस ने सुरेश को गिरफ्तार कर लिया है.

पहले सुनाई थी कुछ और कहानी

पुलिस ने यह भी कहा कि सुरेश के बयान के मुताबिक, जब वह खुद की जान लेने जा रहा था तो बेटी ने उसे रोका. सुरेश ने पहले पुलिस को बताया था उसके बेटे को गीता ने मारा और फिर सुसाइड कर लिया. हालांकि जांच में पुलिस को कुछ और ही कहानी पता लगी. पुलिस कह रही है कि सुरेश और उसकी बेटी लगातार अपने बयान बदल रहे हैं. उनका मानना है कि लड़की सदमे में है.

आसपास के लोगों से पुलिस की बातचीत में इस बात की पुष्टि हुई कि सुरेश का परिवार आर्थिक तंगी से जूझ रहा था. पुलिस ने कहा कि गीता कई घरों में कुक का काम करती थी और उसपर करीब 5 लाख रुपये का कर्ज हो गया था.

ये भी पढ़ें

खुद को ब्राह्मण बता मुस्लिम ने कर ली हिंदू युवती से शादी, दूल्हा-दुल्हन लापता

निजी तस्वीरों के साथ ही बेच दिया मोबाइल, वायरल होने पर मेरठ में मर्डर-सुसाइड-एनकाउंटर

जहां असहाय बच्‍चों की मदद होनी थी, वहां सालों तक ड्रग्‍स देकर होता रहा उनका बलात्‍कार

Related Posts