Zomato के मुस्लिम डिलिवरी बॉय को मना करने वाले शख्स को पुलिस भेजेगी नोटिस

जबलपुर के इस शख्स ने मंगलवार की रात ट्वीट किया था कि उसने नॉन हिंदू डिलिवरी बॉय देखकर ऑर्डर कैंसिल कर दिया.

जोमैटो के मुस्लिम डिलिवरी बॉय को इंकार करने वाले अमित शुक्ला को मध्य प्रदेश पुलिस ने नोटिस भेजने का फैसला किया है. जबलपुर के अमित शुक्ला ने एक ट्वीट जोमैटो को टैग करते हुए लिखा था कि उन्हें सावन के महीने में ‘नॉन हिंदू’ डिलिवरी बॉय से खाना नहीं चाहिए. फिलहाल अमित शुक्ला ने अपना ट्विटर हैंडल डिएक्टिवेट कर दिया है.

जबलपुर से टीवी9 भारतवर्ष के संवाददाता मंगलेश्वर गजभिये की रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस ने घटना का संज्ञान लिया है. एसपी जबलपुर अमित कुमार ने कहा है कि समाज में छुआछूत और धार्मिक भावनाएं भड़काने वाला मानते हुए धारा 107/16 के तहत नोटिस भेजा जाएगा. उन्होंने बताया कि किसी ने शिकायत नहीं की है, पुलिस ने स्वत: संज्ञान लिया है.

बता दें कि मुस्लिम डिलिवरी बॉय को मना करने पर जोमैटो ने ट्वीट किया था कि ‘खाने का कोई धर्म नहीं होता, खाना खुद ही धर्म है.’ देश भर से जोमैटो को इस कदम के लिए समर्थन मिला. कुछ नफरत फैलाने वाले तत्वों को छोड़कर लगभग सभी ने इसका सपोर्ट किया. जोमैटो की प्रतिस्पर्धी कंपनी ऊबर ईट्स ने भी जोमैटो के सपोर्ट में ट्वीट किया कि ‘हम आपके साथ हैं.’ जोमैटो के फाउंडर दीपेंदर गोयल ने भी अपनी कंपनी का पक्ष रखते हुए कहा कि भारत देश अपनी विविधता के लिए मशहूर है. हम भारत के अलग-अलग विचारधारा वाले ग्राहकों की विविधता पर गर्व करते हैं. अगर हमारे मूल्यों के लिए बिजनेस का नुकसान होता है तो हमें दुख नहीं होगा.

ये भी पढ़ें:

मुस्लिम डिलिवरी मैन देख जोमैटो ऑर्डर कैंसिल करने वाला अब बंद करेगा इन चीजों का इस्तेमाल!

जोमैटो के ‘खाने का धर्म नहीं होता’ कहने पर ऊबर ईट्स ने किया सपोर्ट, अब इस पर टूट पड़े लोग

क्या है झटका और हलाल मीट में अंतर, जिस पर ट्रोल हो रहा Zomato