ड्राइवर ने की अश्लील हरकत, लड़की ने वीडियो बनाकर इंस्टाग्राम पर किया पोस्ट

“मैं इस मामले को इसलिए नहीं शेयर कर रही कि आप लोग मुझे पीड़ित समझें बल्कि इसलिए बता रही हूं की आप लोगों के साथ अगर कभी ऐसा हो तो आवाज़ उठाएं.”

  • TV9.com
  • Publish Date - 6:46 pm, Tue, 2 July 19

मुंबई की ये घटना भारतीय समाज, सरकार, प्रशासन और उन सभी के लिए करारा तमाचा है जो यह दावे करते हैं की इस देश में महिलाएं सुरक्षित है. जिस देश में बेटियों के साथ दिन दहाड़े छेड़छाड़ हो, मर्द खुले आम अश्लील हरकतें करें और जब पुलिस प्रशासन उनकी शिकायतों को ये कहकर पल्ला झाड़े की ये हमारे क्षेत्र का मामला नहीं है उस देश में ‘बेटी बचाओ,बेटी पढ़ओ’ जैसी मुहीम मात्र नारे ही प्रतीत होते हैं.

ये मामला है मायानगरी मुंबई का, जहां 21 वर्षीय डेबलीना के साथ कैब ड्राइवर ने खुलेआम अश्लील हरकतें की और दुर्व्यवहार किया वो भी तब जब कैब में पीछे उनकी मां और बहन मौजूद थे. इस पूरे मामले के बारे में दुनिया को तब पता चला जब डेबलीना ने इसका वीडियो अपने इंस्टाग्राम पर शेयर किया.

 

View this post on Instagram

 

SHAME !!!! It took me hours to think if I should share this or not, but I am sharing it now, . (Before you judge me based on what I was wearing I was wearing normal jeans and top) We were on our way from Siddhivinayak temple, We took this local taxi( worst decision ever) taking my mom & sister to Nariman Point on my way from Dadar, This driver as soon as I got into this local taxi, opens his zip ,was staring at me objectifying& was stimulating his genitals ( I wish I could record that) every time he took halt on signals ,Making me feel so uncomfortable, it was morning 9:30 am, Being in Mumbai I always felt safe and have never come across any such situation before, It’s called safe city, But if people like this can make someone like me who is local resident of this city go through this, I wonder what women coming from other city could have gone through, it’s not the city to be blamed but such people , Yes I got down abruptly in middle and no he wasn’t letting us get down until I forced voice, I said this where I could see Mumbai police around, later he started saying sorry, stating he was poor but excuse me, being poor doesn’t give you right to sexually harass someone, What if it would have been late evening , me alone in this same situation, I always heard about all this untill today I experienced this shit . Update – FIR is filled and I didn’t share this to feel victimised but to make all the women out there feel powerful and raise their voice when &where needed. Also up till he is not arrested I would suggest you guys to not board this taxi MH01 BT7115. #Shame #speakup #raiseyourvoice

A post shared by DEBALEENA SAHA (@debaleena_buzz) on

डेबलीना ने लिखती हैं- ‘कई घंटे सोचने के बाद की इसे शेयर करना चाहिए या नहीं, मैंने फैसला किया की इस मामले को दुनिया के आगे बताया जाये. इससे पहले कि आप लोग जज करें मैंने क्या पहना था, आपको बता दूं मैंने नार्मल सी जीन्स और टॉप पहना था. अपनी मां और बहन के साथ सिद्धिविनायक मंदिर जाने के लिए मैंने दादर से नरीमन पॉइंट के लिए लोकल कैब ली (जो मेरा सबसे बेकार फैसला था). जैसे ही हम गाड़ी में बैठे, ड्राइवर ने अजीब सी नजरों से मुझे घूरा. इसके बाद उसने अपनी पैंट की जिप खोली, और अश्लील हरकतें करने लगा.’

डेबलीना आगे लिखती हैं कि, ‘काश मैं ये रिकॉर्ड कर पाती. जब ऐसे लोग मेरे जैसी स्थानीय महिला के साथ ऐसा कर सकते हैं, तो सोचिए उनके साथ क्या होता होगा जो बाहर से आये हैं.’

डेबलीना ने ये भी कहा कि इसके लिए मुंबई शहर जिम्मेदार नहीं है, बल्कि ऐसी हरकतें करने वाले लोग हैं. इस घटना के बाद जब डेबलीना ने ड्राइवर को कैब रोकने को कहा तो वो मना करने लगा. तेज आवाज में चिल्लाने पर वो रुका और गरीब होने का हवाला देकर माफी मांगने लगा. गरीब होने का ये मतलब नहीं की आपको यौन उत्पीड़न करने का लाइसेंस मिल गया है.

‘मैं इस मामले को इसलिए नहीं शेयर कर रही कि आप लोग मुझे पीड़ित समझें बल्कि इसलिए बता रही हूं की आप लोगों के साथ अगर कभी ऐसा हो तो आवाज़ उठाएं. अब FIR हो चुकी है और इस शख्स को पुलिस ने पकड़ लिया है.’

डेबलीना को हम सलाम करते हैं की इस मामले को छुपाने के बजाए उन्होंने इसे शेयर किया जिसकी वजह से कैब ड्राइवर पकड़ा गया. इस समाज को जरूरत है डेबलीना जैसी और महिलाओं की जो खुलकर बोलें ताकि ऐसी हरकतें करने वालों लो पकड़ा जा सके, क्योंकि अगर इन्हें सामने नहीं लाया जायेगा, सजा नहीं मिलेगी तो इनकी हरकतों पर लगाम भी नहीं लगेगी.

समाज जो जरूरत है की ऐसे लोगों के खिलाफ एक-जुट हों, उस महिला की आवाज की हौसला दें जिसके साथ दुर्व्यवहार हुआ हो. प्रशासन को जरूरत है की ऐसे लोगों के खिलाफ जल्द से जल्द कार्रवाई करें ना की ये कहकर पल्ला झाड़ें की ये मामला हमारे क्षेत्र का नहीं है. सरकार को जरूरत है की सख्त से सख्त कानून बनाएं, ताकि लोगों में कानून का डर बना रहे. बेटियां तब ही पढ़ेंगी और बढ़ेंगी जब इस समाज में उन्हें रहने लायक और सुरक्षित  माहौल मिलेगा.