VIDEO: अलवर गैंगरेप पीड़ित दंपति ने मांगी सरकारी नौकरी, कहा- बलात्कारियों को फांसी दो

पीड़ित दंपत्ति ने बताया कि उनके चेहरे पर बिल्कुल डर नहीं था वे हंस-हंसकर बलात्कार कर रहे थे. जाते-जाते धमकी दे गए कि ये बात किसी को मत बनाना.

नई दिल्ली: अलवर गैंगरेप पीड़ित दंपत्ति ने टीवी9भारतवर्ष के साथ बातचीत में 26 अप्रैल को उनके साथ हुई भयावह घटना की पूरी आपबीती सुनाई है. दोनों के साथ बातचीत के दौरान टीवी9भारतवर्ष की एंकर ने अनिल और अनीता काल्‍पनिक नाम रखकर पीडि़त दंपति से बात की.

अनिल और अनीता ने बलात्‍कारियों के लिए फांसी की मांग की है, साथ यह भी कहा कि इस घटना के बाद से उनका भविष्‍य खतरे में पड़ गया है, वे अब पढ़-लिख नहीं सकते हैं, इसलिए उन्‍हें सरकारी नौकरी दी जाए, ताकि वे बाकी की जिंदगी ठीक-ढंग बसर कर सकें.

अनिल और अनीता ने राजनीतिक दलों से अपील करते हुए कहा कि वे इस मुद्दे पर राजनीति न करें.

पीडि़ता से सवाल- उस दिन आप दोनों एक जगह से चले और बीच में पांच लोगों ने आप लोगों को रोक लिया. उस दिन आप कहां से आ रहे थे और उसके बाद आगे क्या कुछ घटा.?

जवाब- 26 तारीख को मैं और मेरे पति, मेरे घर से आ रहे थे लालवाड़ी से, सालवरस जा रहे थे. कुछ दूर गए तो वहां से पांच बाइक सवार आ रहे थे उन्होंने हमारी गाड़ी के सामने गाड़ी लगा दी और मारपीट चालू कर दी. बड़े-बड़े टीलों में ले गए खूब मारा और टार्चर किया. हमारी जाति पूछी और जातिसूचक शब्दों से गाली देने लगे. और फोन ले लिए बोले की कपड़े निकालो हमने मना किया लेकिन उन्होंने हमारी एक भी नहीं सुनी खूब रिक्वेस्ट की उनसे ,उन्होंने
मेरे और मेरे पति के जबरदस्ती कपड़े उतार दिए, कपड़े फाड़ दिए. मेरा और मेरे पति का वीडियो बना लिया और फिर एक-एक करके बारी-बारी से पांचों ने बलात्कार किया.

पीडि़त से सवाल- मैं पढ़ रही थी आपकी बातचीत को आप कह रहे थे आप जिम जाते हैं आप ताकतवार हैं लेकिन आप उस दिन बेबस से हो गए थे जिस दिन ये घटना क्रम हुआ.

जवाब- जैसे कि अनीता ने बताया मैं मेरे सुसराल से जा रहे थे पीछे से दो बाइक वालों ने उन पर पांच लोग सवार थे उन्होंने पिटाई शुरू कर दी. रेत के बड़े बड़े टीलों के पास ले गए खूब टार्चर किया जाति पूंछी. भिलाई जाति बताई तो और जमकर पीटा. मारते मारते कपड़े उतरवाने के लिए बोला खूब टार्चर किया हमारे कपड़े फाड़ दिए, बिल्कुल नग्न कर दिया वीडियो बना लिया मेरी वाइफ को साइड में ले गए और पांचों ने बारी बारी से बलात्कार किया, उसमें से एक बंदे ने दो बार बलात्कार किया. उनके चेहरे पर बिल्कुल डर नहीं था वे हंस-हंसकर बलात्कार कर रहे थे. जाते जाते धमकी दे गए कि ये बात किसी को मत बनाना.

पत्नी अनीता से सवाल- आपके पास नेता पत्रकार पहुंच रहे हैं राजनीति हो रही है आप क्या चाहती हैं.?

जवाब- मैं चाहती हूं उन लोगों को कड़ी से कड़ी सजा मिले फांसी हो. हमारा भविष्य खराब हो गया है हम पढ़ाई भी नहीं कर पाएंगे यहां पर हम यहां नहीं रहना चाहते हमारा भविष्य सुरक्षित रहे इसके लिए सरकारी नौकरी मिले.

दोनों का कहना है कि उन लोगों को कड़ी से कड़ी सजा मिले,  उनको फांसी मिले. इस घटना पर राजनीति न हो, हमें सरकारी नौकरी मिले

ये भी पढ़ें- ‘अलवर गैंगरेप कांड को दबा रही राजस्‍थान सरकार’, मायावती ने कांग्रेस पर बोला हमला