घाटी में 3 साल की बच्‍ची से रेप के बाद प्रदर्शन तेज, महबूबा बोलीं- दोषी को पत्‍थर मार दें मौत

घटना सामने आने के बाद, रविवार को मध्‍य और उत्‍तरी कश्‍मीर में 12 से भी ज्‍यादा जगहों पर प्रदर्शन हुए.

नई दिल्‍ली: जम्‍मू-कश्मीर के बांदीपोरा जिले के सुंबल इलाके में 3 साल की एक बच्‍ची से बलात्‍कार का मामला सामने आया है. 9 मई को हुई वारदात के आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. घटना सामने आने के बाद घाटी में प्रदर्शन तेज हो गए हैं. प्रदर्शनकारी मांग कर रहे हैं कि दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जाए. वहीं, पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने दोष‍ियों को ‘शरिया’ कानून के अनुसार पत्‍थर मारकर मौत की सजा देने की वकालत की है.

पीड़‍िता के परिवार ने जो शिकायत दर्ज कराई है, उसके मुताबिक इफ्तार से ठीक पहले बच्‍ची का रेप हुआ. एक रिश्‍तेदार ने कहा कि आरोपी ने टॉफी का लालच देकर बच्‍ची को बुलाया. उसका अपहरण किया और फिर दरिंदगी को अंजाम दिया. लहूलुहान बच्‍ची पास के इलाके में मिली जिसके बाद पुलिस को खबर की गई. वारदात सामने आने के बाद, पुलिस ने उसी इलाके के एक गांव से आने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. बच्‍ची को श्रीनगर के एक अस्‍पताल में रेफर किया गया है, जहां उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है.

नेताओं ने की निंदा, कड़ी कार्रवाई की मांग

जम्‍मू-कश्‍मीर की पूर्व सीएम महबूबा ने ट्विटर पर लिखा, “मैं सुंबल में 3 साल की बच्ची के साथ हुई रेप की घटना की खबर सुनकर स्तब्ध हूं. किस तरह की बीमार मानसिकता के लोग ऐसी वारदातों को अंजाम देते हैं. समाज अक्सर ऐसी वारदातों के लिए महिलाओं के आवांछित निमंत्रण को दोषी कहता है कि लेकिन क्या यह सच में उस मासूम की गलती थी. आज ऐसे वक्त में शरिया कानून के अनुसार, ऐसे काम करने वालों को पत्थर मारकर मौत की सजा देनी चाहिए.

पूर्व सीएम और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्‍दुल्‍ला ने ट्वीट कर कहा कि “जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस दोषी की पहचान के लिए जल्‍द से जल्‍द जांच करे. जो जिम्‍मेदार हैं उनको सख्‍त से सख्‍त सजा सुनिश्चित हो.” हुर्रियत कॉन्‍फ्रेंस के प्रमुख सैयद अली शाह गीलानी ने ऐसी घटनाओं को ‘सामाजिक ताने-बाने और संस्‍कृति पर काला धब्‍बा’ बताया है.

ये भी पढ़ें

10 हजार में पिता ने बेचा, हुआ गैंगरेप, UP पुलिस ने न सुनी तो विधवा ने लगाई खुद को आग

ATM में महिला से अश्लील हरकत करने वाला युवक गिरफ्तार