‘मम्मी-पापा, मुझे माफ करना, मेरी बॉडी आईटीओ पुल के पास मिलेगी’

बुधवार को दोपहर 3 बजे यमुना में कूड़े बीनने वाले को डेडबॉडी का पता चला.

नई दिल्ली: दिल्ली के एक 26 वर्षीय डिलिवरी ब्यॉय ने पहले व्हाट्सएप पर मैसेज भेजा और फिर कथित तौर पर आत्महत्या कर ली.

आत्महत्या से पहले उसने घरवालों को व्हाट्सएप कर संदेश भेडते हुए लिखा, ‘ सॉरी, मम्मी-पापा, मुझे माफ करना, मेरी डेडबॉडी आईटीओ पुल के पास मिलेगी.’

पुलिस को व्यक्ति की लाश व्हाट्सएप मैसेज मिलने के तीन दिन बाद बुधवार दोपहर यमुना से मिली.

मृतक की पहचान 26 वर्षीय हर्ष खंडेलवाल के रूप में हुई है. वह 30 जून की रात अपने एक दोस्त की पत्नी का बर्थडे मानने के नाम पर छह दोस्तों के साथ मुरथल के लिए रवाना हुआ था. जिसके बाद एक जुलाई की सुबह परिवार व करीबियों को व्हाट्सएप पर मेसेज मिला, जिसमें लिखा था, ‘सॉरी, मम्मी-पापा, मुझे माफ करना, मेरी डेडबॉडी आईटीओ पुल के पास मिलेगी.’

व्यथित परिवार मैसेज पाते ही दिल्ली के ITO पुल पहुंच गया लेकिन वहां से हर्ष का केवल कुछ सामान ही बरामद हुआ. जिसके बाद वे लोग पुलिस के पास पहुंचे और इंद्रप्रस्थ एस्टेट पुलिस थाने में ग़ायब होने की शिकायत दर्ज़ कराई. परिवारवालों के मुताबिक उन्होंने शिकायत तो दर्ज़ करा दी लेकिन उनकी तरफ से कोई तत्परता नहीं दिखाई गई.

हर्ष की लाश तीन दिन बाद बुधवार को यमुना नदी में शाम 3 बजे बरामद हुआ. पुलिस को कचरा बीनने वालों ने लाश की जानकारी दी थी. परिवारवालों के मुताबिक ये पूरा मामला हत्या का है. उनका कहना है कि 1 जुलाई की सुबह ही फोन पर बेटे से बात हुई थी. उसने कहा था कि वो थोड़ी ही देर में घर पहुंचेगा लेकिन कुछ ही समय बाद व्हाट्सएप पर यह मैसेज मिला.

और पढ़ें- मौसेरी बहनों ने आपस में रचाई शादी, वाराणसी का पहला समलैंगिक विवाह

पुलिस फ़िलहाल इस मामले में हर्ष के दोस्तों और क़रीबियों से पूछताछ कर मामले की छानबीन कर रही है. पुलिस के मुताबिक़ हर्ष दिल्ली के चांदनी चौक में अपने परिवारवालों के साथ रहता था. उसके परिवार में एक शादीशुदा बहन के अलावा कुल चार सदस्य थे. हर्ष अपने परिवार का इकलौता बेटा था. वो एक ऑनलाइन फर्म में डिलिवरी ब्यॉय के तौर पर काम करता था.