तीन दिन में जवाब दे केंद्र-महाराष्ट्र-बिहार सरकार और सुशांत का परिवार, रिया की अर्जी पर SC ने कहा

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के पिता केके सिंह ने रिया चक्रवर्ती के खिलाफ बिहार के राजीव नगर थाने में एआईआर (FIR) दर्ज करायी थी. उन्होंने रिया पर कई गंभीर आरोप लगाए थे. इसके बाद रिया ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था.
Sushant Singh Rajput Death Case Supreme Court, तीन दिन में जवाब दे केंद्र-महाराष्ट्र-बिहार सरकार और सुशांत का परिवार, रिया की अर्जी पर SC ने कहा

सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र, बिहार, केंद्र और सुशांत सिंह राजपूत के परिजनों से 3 दिन के भीतर जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया है. साथ ही महाराष्ट्र सरकार को इस मामले में अब तक की गई जांच की एक रिपोर्ट दाखिल करने का आदेश जारी किया है. सुप्रीम कोर्ट में इस मामले पर अगले सप्ताह सुनवाई होगी.

सुप्रीम कोर्ट ने रिया चक्रवर्ती की स्थानांतरण याचिका पर बुधवार को कहा कि बिहार में दर्ज‌ एफआईआर में रिया पर गंभीर आरोप लगाए गए हैं. जिसके बाद यहां स्थानांतरण याचिका दायर की गई. केंद्र ने यहां सूचित किया कि बिहार सरकार की सिफारिश स्वीकार कर ली गई है और जांच सीबीआई को सौंप दी जाएगी. साथ ही केंद्र ने कहा है कि शाम तक इसकी अधिसूचना जारी कर दी जाएगी.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

दूसरी ओर वकील विकास‌ सिंह ने मुंबई पुलिस पर कई आरोप लगाए और बिहार पुलिस को मुंबई में जांच जारी रखने की इजाजत मांगी. एकल पीठ ने सभी पक्षों को आज सुना. सुप्रीम कोर्ट ने सभी पक्ष से तीन दिन में जवाब दाखिल करने के लिए कहा है. साथ ही महाराष्ट्र सरकार को कहा गया है कि अब तक इस मामले में हुई जांच पर एक रिपोर्ट दाखिल करे.

सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस ऋषिकेश राय की सिंगल बेंच में रिया चक्रवर्ती की याचिका को‌ 11वें नंबर पर सूचीबद्ध किया गया था. बिहार सरकार की तरफ से वरिष्ठ एडवोकेट मुकुल रोहतगी ने पक्ष रखा. सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह की तरफ से वरिष्ठ एडवोकेट विकास सिंह और महाराष्ट्र सरकार की तरफ से वरिष्ठ एडवोकेट आर बसंत ने पक्ष रखा.

रिया चक्रवर्ती के खिलाफ पटना में एफआईआर

मालूम हो कि सुशांत सिंह राजपूत के पिता केके सिंह ने रिया चक्रवर्ती के खिलाफ बिहार के राजीव नगर थाने में एआईआर दर्ज करायी थी. उन्होंने रिया पर कई गंभीर आरोप लगाए थे. इसके बाद रिया ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. रिया ने सुप्रीम कोर्ट में स्थानांतरण याचिका दायर की. रिया ने बिहार में दर्ज केस को मुंबई ट्रांसफर करने की मांग की थी.

रिया के वकील ने उठाए CBI जांच की मांग पर सवाल

रिया के वकील ने CBI जांच की सिफारिश पर सवाल उठाए थे. उन्होंने कहा कि रिया ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की थी. इसमें कहा गया था कि इस केस की जांच करना बिहार पुलिस के अधिकार क्षेत्र में नहीं आता. ये याचिका सुप्रीम कोर्ट में जारी रहेगी. इस केस में बिहार पुलिस के जुड़ने का कोई कानूनी आधार नहीं है. ज्यादा से ज्यादा ये जीरो एफआईआर होगी और इसे मुंबई पुलिस को ट्रांसफर कर दिया जाएगा. रिया के वकील ने कहा कि हमने ये महसूस किया है कि बिहार पुलिस को केस की जांच का हक नहीं था. इसलिए उन्होंने जांच के लिए गलत तरीके का इस्तेमाल किया.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts