तेलंगाना: आसिफाबाद पुलिस मुठभेड़ में दो माओवादी ढेर, 20 लाख का इनामी कमांडर फरार

माओवादियों (Maoist) की गतिविधियों पर कड़ी नजर रखने के साथ ही पक्की सूचना के आधार पर पुलिस ने यह कार्रवाई की. पिछले दो दिनों से आसिफाबाद और कागजनगर के बीच जंगलों में पुलिस बल ने तलाशी अभियान (Search operation) तेज कर दिया था.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 12:26 pm, Sun, 20 September 20

तेलंगाना के कोमरमभीम आसिफाबाद जिले के कागजनगर मंडल के कदंबा जंगल में पुलिस के साथ कल देर रात हुई मुठभेड़ में दो माओवादी (Maoist) मारे गए हैं. मुठभेड़ में मारे गए माओवादियों में चुककालू और एक अन्य माओवादी होने की खबर है, जबकि कुछ दूरी में उनका लीडर अडेलू अपने दल के साथ फरार हो गया है, पुलिस उसे ढूंढने को कोशिश कर रही है.

पुलिस ने घटनास्थल से दो बंदूक बरामद किए है. इस मुठभेड़ (Encounter) में माओवादी पार्टी प्रदेश कमेटी सदस्य मैलरपु आडेल्लु उर्फ भास्कर के बाल-बाल बचने की खबर है. पुलिस का तलाशी अभियान जारी है. 25 सालों से भूमिगत भास्कर के सिर पर 20 लाख रुपए का इनाम घोषित है. मुठभेड़ के बाद कोमरम भीम आसिफाबाद जिले के प्रभारी एसपी और रामगुंडम के पुलिस आयुक्त वी. सत्यनारायण, एएसपी सुधींद्र ने घटनास्थल पहुंच कर स्थिति का जायजा लिया.

चककालू पर 5 लाख रुपये का इनाम घोषित था

इस ऑपरेशन में संयुक्त आदिलाबाद जिले के कुल 8 ग्रेहाउंड टीमें और 6 स्पेशल पार्टियों ने हिस्सा लिया. मुठभेड़ में मारे गए चुककालू ने हाल की नियुक्तियों में आदिलाबाद जिले के इंद्रवेली एरिया कमेटी का प्रमुख नियुक्त किया गया था. मूल रूप से छत्तीसगढ़ निवासी चुककालू पर पांच लाख रुपए का इनाम घोषित था.

 पुलिस ने माओवादियों के लिए चलाया सर्च ऑपरेशन

माओवादियों की गतिविधियों पर कड़ी नजर रखने के साथ ही पक्की सूचना के आधार पर पुलिस ने यह कार्रवाई की. पिछले दो दिनों से आसिफाबाद और कागजनगर के बीच जंगलों में पुलिस बल ने तलाशी अभियान तेज कर दिया था. शुक्रवार को आसिफाबाद (Asifabad) मंडल के चिलाटीगुड़ा में माओवादियों के मौजूदगी की खबर मिलने से पुलिस ने सर्च ऑपरेशन (Search Operation) भी उसी दिशा में आगे बढ़ाया गया.

माओवादी पार्टी प्रदेश पार्टी कमेटी सदस्य और केबीएम (कोमरम भीम मंरिर्याल) डिवीजन के सचिव मैलरपु आडेलू उर्फ भास्कर के नेतृत्व में दल के पांच सदस्यों के छत्तीसगढ़ दंडकारण्यम से महाराष्ट्र के रास्ते प्राणहिता नदी के रास्ते कुछ समय पहले आसिफाबाद में घुसने की खबर मिली. इसी क्रम में पिछले महीने तिर्याणी मंडल के टोक्कीगुड़ा जंगल में हुई मुठभेड़ में माओवादी बाल-बाल बच निकले थे.