बहन की बजाय 100 नंबर पर किया होता फोन तो बच जाती जान- रूह कंपाने वाली घटना पर बोले मंत्री

पुलिस की शुरुआती जांच में सामने आया है कि महिला डॉक्टर का इनरवियर उसके शव से 100 मीटर की दूरी पर मिला है. इससे माना जा रहा है कि उन दरिंदों ने रेप की घटना को भी अंजाम दिया.

हैदराबाद में 26 वर्षीय महिला डॉक्टर का जला हुआ शव मिलने के बाद से शहर में हंगामा मचा हुआ है. पीड़िता की मौत पर अब मंत्रियों की सियासत भरी बयानबाजी शुरू हो गई है.

डॉक्टर की मौत पर तेलंगाना गृह मंत्री मो. महमूद अली ने कहा कि, ‘इस घटना से हम आहत हैं. पुलिस इस अपराध को लेकर अलर्ट है और इसे कंट्रोल कर रही है. हालांकि ये दुभाग्यपूर्ण है कि पीड़िता ने अपनी बहन को फोन किया बजाय 100 नंबर डायल करने के. उन्होंने अगर ऐसा किया होता तो वो बच सकती थीं.’

ये है पूरा मामला

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, महिला डॉक्टर कोल्लुरु स्थित पशु चिकित्सालय में काम करती थीं. बुधवार को उन्होंने टोल प्लाजा के नजदीक अपनी स्कूटी पार्क की और कैब से काम पर पहुंची. रात में जब वह लौटी तो उन्होंने पाया कि उनकी स्कूटी पंक्चर है. महिला डॉक्टर ने अपनी बहन को स्थिति के बारे में बताया और यह भी जाहिर किया कि उन्हें डर लग रहा है क्योंकि आसपास सिर्फ लोडिंग ट्रक और अनजान लोग हैं.

इस पर बहन ने उन्हें टोल प्लाजा जाने या फिर स्कूटी छोड़ कैब से आने को कहा. महिला डॉक्टर ने अपनी बहन को बताया कि कुछ लोगों ने उन्हें मदद ऑफर की है और उन्होंने थोड़ी देर से कॉल बैक करने की बात कही. लेकिन बाद में जब परिवारजनों ने फोन लगाया तो फोन स्विच ऑफ आने लगा.

शमशाबाद के पुलिस डीसीपी प्रकाश रेड्डी ने कहा, ब्रिज के नीचे मिला शव महिला डॉक्टर का ही है. उनकी बहन के साथ आखिरी बार फोन पर बात हुई थी उसकी रिकॉर्डिंग हमने सुनी उसके अनुसार उनकी स्कूटी का टायर पंचर हो गया था. वहां कुछ ट्रक ड्राइवर्स खड़े थे और वे उनकी स्कूटी का पंचर बनवाने के लिए ले गए. हमें शक है कि उन लोगों ने ही महिला डॉक्टर के साथ कुछ किया होगा हम उसकी तहकीकात कर रहे हैं.

पुलिस की शुरुआती जांच में सामने आया है कि महिला डॉक्टर का इनरवियर उसके शव से 100 मीटर की दूरी पर मिला है. इससे माना जा रहा है कि उन दरिंदों ने रेप की घटना को भी अंजाम दिया. शहर के बाहरी इलाके शादनगर में महिला डॉक्टर का जला हुआ शव मिला.