दहेज न देने पर पत्नी को दिया तीन तलाक, पीड़िता ने पीएम और सीएम से लगाई मदद की गुहार

उत्तर प्रदेश (Uttar pradesh) में भले ही तीन तलाक (triple talaq) पर कानून पास हो गया हो बावजूद इसके तीन तलाक के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं.

  • उमेश पाठक
  • Publish Date - 4:02 pm, Sun, 13 September 20

उत्तर प्रदेश के शामली (shamli) में तीन तलाक (triple talaq) का एक मामला सामने आया है. पीड़िता ने बताया कि 5 दिन पहले उसके पति ने उसे तलाक दिया था.पीड़िता का कहना है कि उसने इसकी शिकायत स्थानीय थाने में की मगर पुलिस प्रशासन ने उनकी कोई सुनवाई नहीं की. पीड़िता ने पांच दिन बाद एसपी शामली के माध्यम से प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर मदद की गुहार लगाई है.

उत्तर प्रदेश (Uttar pradesh) में भले ही तीन तलाक (triple talaq) पर कानून पास हो गया हो बावजूद इसके तीन तलाक के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. मामला जनपद शामली (shamli) के कांधला का है कस्बा निवासी एक महिला ने बताया कि उसकी शादी 8 साल पहले जनपद मुजफ्फरनगर के गांव सुजूडू निवासी वसीम के साथ हुई थी.उसकी दो बेटियां हैं. उसका पति व ससुराल पक्ष आए दिन ताने देते हैं और उसे दहेज के लिए प्रताडि़त करते हैं.

बीते आठ सितंबर को उसका पति, ससुर और जेठ उसके मायके आए और उसके भाई व उसके साथ मारपीट करने लगे.  जब पीड़ित महिला ने विरोध किया तो उसके पति ने उसे तीन बार तलाक तलाक तलाक बोलकर तीन तलाक दे दिया.

पीड़ित महिला का कहना है कि उसने बीते 9 सितंबर को कांधला थाने पर आरोपी पति के खिलाफ तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की थी मगर पुलिस ने उसकी तहरीर पर आज तक मुकदमा दर्ज नहीं किया है.

पीड़िता का कहना है कि वह अब अपने परिजनों व दो बच्चियों के साथ दर-दर की ठोकरें खा रही है. स्थानीय प्रशासन उसकी कोई भी मदद करने को तैयार नहीं है. पीड़िता ने एसपी शामली और प्रधानमंत्री के साथ यूपी के मुख्यमंत्री से मदद की गुहार लगाई है.