Chemical Attack, Chemical Attack history, Chemical Attack facts, Chemical Attack in india, Chemical Attack in syria, Chemical Attack reason, what is Chemical Attack, Chemical Attack unknown facts, Chemical Attack in countries, international news, तड़प-तड़पकर होती है मौत, ये है केमिकल अटैक की A टू Z डिटेल
Chemical Attack, Chemical Attack history, Chemical Attack facts, Chemical Attack in india, Chemical Attack in syria, Chemical Attack reason, what is Chemical Attack, Chemical Attack unknown facts, Chemical Attack in countries, international news, तड़प-तड़पकर होती है मौत, ये है केमिकल अटैक की A टू Z डिटेल

तड़प-तड़पकर होती है मौत, ये है केमिकल अटैक की A टू Z डिटेल

Chemical Attack, Chemical Attack history, Chemical Attack facts, Chemical Attack in india, Chemical Attack in syria, Chemical Attack reason, what is Chemical Attack, Chemical Attack unknown facts, Chemical Attack in countries, international news, तड़प-तड़पकर होती है मौत, ये है केमिकल अटैक की A टू Z डिटेल

नयी दिल्ली
आज दुनियाभर में हथियारों की होड़ मची हुई है. हर एक देश खतरनाक से खतरनाक हथियार बनाने में लगा हुआ है. अनुमान है कि मानवता के विनाश की वजह ये हथियार ही होंगे. विनाश का एक भयावह नजारा हिरोशिमा और नागासाकी में हुए परमाणु हमले के रूप में देखा जा चुका है. इसके अलावा भी निरंतर कई छोटे-बड़े हमले दुनिया के किसी न किसी हिस्से पर होते रहे हैं. इस बीच केमिकल अटैक्स ने भी दुनियाभर के लोगों को दहलाकर रख दिया है. हाल के दिनों में सीरिया से कई बार केमिकल अटैक होने की खबरें आई हैं. इन हमलों में सैकड़ों लोगों के तड़प-तड़पकर मरने का अनुमान है. लेकिन यह कोई पहला मौका नहीं है जब केमिकल अटैक्स ने लोगों को डराया हो. इससे पहले भी कई बार दुनिया के लोगों ने केमिकल अटैक का दंश झेला है. चलिए विस्तार से जानते हैं केमिकल अटैक के बढ़ते खौफ की पूरी कहानी.

क्या है ये बला?
केमिकल अटैक के तहत जहरीली गैस, द्रव या ठोस पदार्थों को पर्यावरण में छोड़ दिया जाता है. ये पदार्थ अपने आसपास मौजूद गैसों से मिलकर जहर बन जाते हैं. इसकी चपेट में आने वाले लोगों की आंखों से लगातार पानी आना शुरू हो जाता है. साथ ही व्यक्ति का दम घुटने लगता है और सांस लेने में दिक्कत आने लगती है. इससे उसकी मौत भी हो सकती है.

…इसलिए है मांग
केमिकल वेपन्स को ‘वेपन्स ऑफ मास डिस्क्ट्रक्शन’ की श्रेणी में रखा जाता है. इसका मतलब यह हुआ के ये भयंकर तबाही मचाने वाले हथियार होते हैं. इसी श्रेणी में रेडियोलॉजिकल, जैविक और परमाणु हथियारों को भी शामिल किया गया है. केमिकल वेपन्स को ‘पुअर मेन्स वेपन’ भी कहा जाता है. क्योंकि इन्हें बनाना, इनका रखरखाव और इस्तेमाल काफी आसान होता है. साथ ही केमिकल वेपन्स की मारक क्षमता बहुत ज्यादा होती है. परमाणु हथियारों की तुलना में इनकी लागत राशि भी बहुत कम है. यही सब वजहें है कि हाल के वर्षों में इनका इस्तेमाल बढ़ा है.

ये है केमिकल अटैक का इतिहास
केमिकल अटैक का इतिहास तकरीबन 100 साल पुराना है. केमिकल अटैक के लिए अब तक कई तरह के रासायनिक पदार्थों का इस्तेमाल किया गया है. इसकी चपेट में अब तक दुनिया के कई देश आ चुके हैं.

क्लोरीन: केमिकल अटैक की शुरुआत क्लोरीन से हुई थी. लेकिन अब तक कई घातक केमिकल वेपन तैयार किए जा चुके हैं. साल 1915 में सबसे पहले क्लोरीन का वेपन के रूप में इस्तेमाल किया गया था. क्लोरीन की चपेट में आने से व्यक्ति का दम घुटने लगता है और उसकी तड़पकर मौत हो जाती है.

मस्टर्ड गैस: क्लोरीन के बाद मस्टर्ड गैस का केमिकल अटैक के लिए इस्तेमाल किया गया. मस्टर्स गैस से शरीर पर घाव हो जाते थे जो मौत का कारण बनते थे.

नर्व सिस्टम: नाजियों ने कीटनाशकों से नर्व एजेंट तैयार किया. कहते हैं कि नर्व एजेंट की चपेट में आने से हजारों लोगों की जान गई. नर्व एजेंट शरीर के नर्वस सिस्टम को ठप कर देता था. साल 1984 से 1988 तक चले ईरान-इराक युद्ध में नर्व एजेंट का काफी इस्तेमाल किया गया. नर्व एजेंट की वजह से इराक के कुर्दिस्तान के हलब्जा में 5000 लोगों की मौत हो गई थी.

सरीन गैस: जापान में साल 1995 में सरीन गैस से हमला किया गया था. राजधानी टोक्यो के एक सबवे पर हुए इस हमले में 15 लोगों की जान गई थी.

सीरिया में केमिकल अटैक!
सीरिया में पिछले कुछ सालों से गृहयुद्ध छिड़ा हुआ है. सीरिया में भी केमिकल अटैक होने होने की बात समय-समय पर आती रही है. साल 2013 में सीरिया में हुए केमिकल हमले ने एक बार फिर से इसकी भयावहता की ओर सबका ध्यान खींचा था. पिछले साल (2018) सीरिया के पूर्वी गोता में विद्रोहियों के आखिरी ठिकाने डौमा शहर में भी केमिकल अटैक होने की खबर आई थी. इस अटैक से करीब 500 लोग प्रभावित हुए थे. फिलहाल दुनिया की अलग-अलग संस्थाएं सीरिया के इन कथित केमिकल अटैक हमलों की जांच कर रही हैं.

हाइड्रोजन पैरॉक्साइड के साथ गिरफ्त में
महाराष्ट्र के आतंकरोधी दस्ते (एटीएस) ने हाल ही 9 लोगों को गिरफ्तार किया था. इन पर प्रयागराज में चल रहे कुंभ मेले में केमिकल अटैक की साजिश करने का आरोप है. एटीएस का कहना था कि गिरफ्तार लोग कुंभ मे कई जगहों पर खाने-पीने की चीजों में जहर मिलाकर सामूहिक नरसंहार करना चाहते थे. गिरफ्तार लोगों के से विस्फोटक बनाने वाले केमिकल पाउडर पकड़े गए. इसके अलावा बड़ी मात्रा में खतरनाक केमिकल हाइड्रोजन पैरॉक्साइड भी मिला, जिसे खाने-पीने की किसी चीज में मिलाने से वह जहर बन जाता है. अनुमान लगाया गया कि यदि ये संदिग्ध अपनी योजना में सफल हो जाते तो सैकड़ों लोगों की जान जा सकती थी.

ये सावधानी है जरूरी
1. केमिकल अटैक की चपेट में आए व्यक्ति के ऊपर जल्द से जल्द पानी का छिड़काव करना चाहिए.

2. जिस जगह पर केमिकल अटैक हुआ हो वहां से तुरंत दूर निकल जाना चाहिए.

3. मुंह पर मॉस्क लगाना भी केमिकल अटैक से बचने का कारगर उपाय माना जाता है.

OPCW का हुआ है गठन
दुनियाभर में बढ़ते रासायनिक हमलों को देखते हुए साल 1997 में ऑर्गेनाइजेशन फॉर द प्रोहिबिशन ऑफ केमिकल वेपन्स (OPCW) का गठन किया गया. इस संगठन से 193 देश जुड़े हुए हैं और यह संयुक्त राष्ट्र के साथ मिलकर काम करता है. OPCW के पास यह अधिकार है कि रासायनिक हमलों का शक होने पर वह उसकी जांच करवा सकता है.

Chemical Attack, Chemical Attack history, Chemical Attack facts, Chemical Attack in india, Chemical Attack in syria, Chemical Attack reason, what is Chemical Attack, Chemical Attack unknown facts, Chemical Attack in countries, international news, तड़प-तड़पकर होती है मौत, ये है केमिकल अटैक की A टू Z डिटेल
Chemical Attack, Chemical Attack history, Chemical Attack facts, Chemical Attack in india, Chemical Attack in syria, Chemical Attack reason, what is Chemical Attack, Chemical Attack unknown facts, Chemical Attack in countries, international news, तड़प-तड़पकर होती है मौत, ये है केमिकल अटैक की A टू Z डिटेल

Related Posts

Chemical Attack, Chemical Attack history, Chemical Attack facts, Chemical Attack in india, Chemical Attack in syria, Chemical Attack reason, what is Chemical Attack, Chemical Attack unknown facts, Chemical Attack in countries, international news, तड़प-तड़पकर होती है मौत, ये है केमिकल अटैक की A टू Z डिटेल
Chemical Attack, Chemical Attack history, Chemical Attack facts, Chemical Attack in india, Chemical Attack in syria, Chemical Attack reason, what is Chemical Attack, Chemical Attack unknown facts, Chemical Attack in countries, international news, तड़प-तड़पकर होती है मौत, ये है केमिकल अटैक की A टू Z डिटेल