60 डॉक्टरों का सरकार को खुला खत, ‘नहीं मिला इलाज तो जेल में मर सकते हैं जूलियन असांजे’

जूलियन असांजे ब्रिटेन की हाई सिक्योरिटी बेलमार्श जेल में बंद हैं.

लंदन में सोमवार को एक खुला खत प्रकाशित हुआ जिसे वहां के 60 डॉक्टरों ने लिखा है. डॉक्टरों ने पत्र में चिंता जताई है कि विकीलीक्स के संस्थापक 48 वर्षीय जूलियन असांजे की जेल में मौत हो सकती है. ऑस्ट्रेलिया मूल के असांजे लंदन की बेलमार्श जेल में बंद हैं और अमेरिका उन्हें ब्रिटेन से प्रत्यर्पित करना चाहता है.

डॉक्टरों ने मंत्रियों से लेकर महत्वपूर्ण पदों पर बैठे लोगों को पत्र लिखकर अपील की है कि असांजे को जेल से निकालकर यूनिवर्सिटी टीचिंग हॉस्पिटल में भर्ती कराया जाए. बता दें कि असांजे पर जासूसी कानून के तहत आरोप लगाए गए हैं. अमेरिका में दोषी साबित होने पर उन्हें 175 साल की जेल हो सकती है, इसीलिए प्रत्यर्पण के खिलाफ वे लड़ रहे हैं.

नहीं मिला इलाज तो हो सकती है मौत

16 पेज के लेटर में डॉक्टरों ने लिखा ‘मेडिकल पेशे से जुड़े होने की वजह से हम बता सकते हैं कि जूलियन असांजे शारीरिक और मानसिक तौर पर गंभीर स्थिति से गुजर रहे हैं. उन्हें तुरंत फिजिकल और साइकॉलजिकल सहायता चाहिए. यह किसी बेहतर उपकरणों वाले अस्पताल में ही संभव है इसलिए असांजे को यूनिवर्सिटी टीचिंग हॉस्पिटल में भर्ती किया जा सकता है. उन्हें सही इलाज नहीं मिला तो उनकी मौत हो सकती है.’

डॉक्टरों ने प्रत्यक्षदर्शियों के बयान और यूएन की तरफ से नियुक्त रिपोर्टर नील्स मेल्जर की रिपोर्ट को आधार बनाकर ये पत्र लिखा है. पत्र लिखने वालों में अमेरिकी, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, स्वीडन, जर्मनी, श्रीलंका, इटली और पोलैंड के डॉक्टर शामिल हैं. लंदन की कोर्ट में 21 नवंबर को प्रत्यक्षदर्शियों ने बयान दिए थे.

असांजे ने 2010 में विकीलीक्स के जरिए अमेरिकी मिलिट्री और गोपनीय फाइलों को सार्वजनिक कर दिया था जिसकी वजह से अमेरिका को खूब आलोचना झेलनी पड़ी थी. इन लीक्स में ईराक और अफगानिस्तान में अमेरिकी बमबारी को लेकर खुलासा किया गया था.

ये भी पढ़ें: