गुरुग्राम में मुस्लिम को पीटे जाने पर भड़के गौतम गंभीर, बोले- हम सेक्युलर देश हैं

मुस्लिम युवक के टोपी पहनने और धार्मिक नारे नहीं लगाने पर चार अज्ञात लोगों ने शनिवार रात उसकी पिटाई कर दी थी.

नई दिल्ली: क्रिकेटर से राजनेता बने गौतम गंभीर ने सोमवार को हरियाणा के गुरुग्राम में एक मुस्लिम युवक पर हुए हमले की निंदा की और साथ ही दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग भी की है.

इस हमले की निंदा करते हुए गंभीर ने ट्वीट किया, “गु0रुग्राम में मुस्लिम युवक को उसकी धार्मिक टोपी हटाने और ‘जय श्री राम’ बोलने के लिए कहा गया. यह निंदनीय है. गुरुग्राम प्रशासन को इस पर कड़ी कार्रवाई करने की जरुरत है. हम एक धर्मनिरपेक्ष देश में रहते हैं, जहां जावेद अख्तर ‘ओ पालन हारे, निर्गुण और न्यारे’ लिखते हैं और राकेश ओम प्रकाश मेहरा ने हमें ‘दिल्ली 6’ में ‘अर्जियां’ दीं.”

राजधानी दिल्ली से सटे गुरुग्राम में एक मुस्लिम युवक के टोपी पहनने और धार्मिक नारे नहीं लगाने पर चार अज्ञात लोगों ने शनिवार रात उसकी पिटाई कर दी थी. 25 वर्षीय युवक की पहचान मोहम्मद बरकत आलम के रूप में हुई.

आलम ने पुलिस में दाखिल एक शिकायत में आरोप लगाया कि चार युवक सदर बाजार लेन में उससे मिले और उन्होंने उससे पारंपरिक टोपी हटाने के लिए कहा. आलम सदर बाजार इलाके में स्थित मस्जिद में नमाज अदा कर वापस आ रहा था, जब उसपर हमला किया गया.

आलम ने मदद के लिए गुहार लगाई, जिसके बाद कई सारे मुसलमान वहां उसकी मदद के लिए पहुंच गए और फिर हमलावर वहां से फरार हो गए. पुलिस ने इस मामले में आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कर ली है और इलाके में लगे सीसीटीवी की मदद से उनकी शिनाख्त में लगी है.