ED का चाबुक चला, कार्ति चिदंबरम को 10 दिन में खाली करना होगा जोर बाग वाला बंगला

ED ने कार्ति चिदंबरम को जो नोटिस भेजा है उसमें उनसे 10 दिन के भीतर पूरी प्रॉपर्टी को हैंडओवर करने को कहा गया है.

नई दिल्‍ली: पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति को 10 दिन के भीतर जोर हाट इलाके में स्थित घर खाली करना होगा. प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने INX मीडिया करप्‍शन केस में इस संपत्ति को पहले ही अटैच कर दिया था. कार्ति चिदंबरम इस मामले में आरोपी हैं.

जोर बाग के ब्‍लॉक 172 में स्थित 115-A वाली प्रॉपर्टी को ED ने पिछले साल 10 अक्‍टूबर को अटैच किया था. 29 मार्च, 2019 को एक चिट्ठी में इसकी पुष्टि की गई. ED ने कार्ति चिदंबरम को जो नोटिस भेजा है उसमें उनसे 10 दिन के भीतर पूरी प्रॉपर्टी को हैंडओवर करने को कहा गया है.

रिपोर्ट्स के अनुसार, कार्ति और उनकी मां नलिनी चिदंबरम इस प्रॉपर्टी के मालिक हैं. PMLA के तहत कार्रवाई चलने तक ED इस प्रॉपर्टी को अपने कब्‍जे में रखेगा.

कार्ति चिदंबरम एयरसेल-मैक्सिस और मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े मामलों का सामना कर रहे हैं. इनमें से एक मामले में जब उनके पिता वित्तमंत्री थे तब आईएनएक्स मीडिया को 305 करोड़ रुपये के विदेशी फंड के लिए विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) की मिली मंजूरी भी शामिल है.

ये भी पढ़ें

INX मीडिया मामला: आरोपी इंद्राणी मुखर्जी बनीं सरकारी गवाह

’10 करोड़ और दो’, सुप्रीम कोर्ट ने कार्ति चिदंबरम को इस शर्त पर दी विदेश जाने की इजाज़त