पश्चिम बंगाल में TMC कार्यकर्ता की हत्या, जानिए चुनाव नतीजों के बाद कब-कब हुई हत्या

बीजेपी का दावा है कि ममता राज में अब तक 60 बीजेपी कार्यकर्ताओं की मौत हो चुकी हैं.
violence in West Bengal, पश्चिम बंगाल में TMC कार्यकर्ता की हत्या, जानिए चुनाव नतीजों के बाद कब-कब हुई हत्या

कोलकाता: राजनीतिक हिंसाओं का दौर थम नहीं रहा है. अब पूर्व बर्दवान के गलसी के साटीनंदी गांव में एक टीएमसी कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई. मृतक का नाम जयदेव राय बताया जा रहा है. इस घटना के बाद से इलाके में तनाव का माहौल है. हत्या के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहाराया जा रहा है, वहीं भाजपा इस घटना से किसी तरह का संबंध होने से इंकार कर रही है.

बताया जा रहा है कि सोमवार की रात टीएमसी कार्यकर्ता जयदेव राय साइकिल लेकर बाजार से घर लौट रहे थे. उसी दौरान गांव के कलबागान घाट के निकट तालाब किनारे कुछ अपराधियों ने उन्हें घेर लिया. उस पर लाठी, रॉड से हमला कर उसके बाद कटारी से वार किया.

शोर सुनकर उसे बचाने पहुंचे टीएमसी समर्थकों की भी पिटाई कर दी. इसके बाद हमलवार फरार हो गए. पुलिस ने चार घायलों को इलाज के लिए बर्दवान मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया है. जहां इलाज के दौरान जयदेव की मौत हो गई.

चुनाव परिणाम के बाद कब-कब हुई हत्या

24 मई: नादिया में बीजेपी कार्यकर्ता संतू घोष की गोली मारकर हत्‍या

27 मई: बीरभूम में बीजेपी के विजय जुलूस पर बम से हमला

27 मई: उत्‍तर 24 परगना में बीजेपी कार्यकर्ता चंदन शॉ की गोली मारकर हत्‍या

4 जून: दमदम में तृणमूल वॉर्ड अध्‍यक्ष निर्मल कुंडु की गोली मारकर हत्‍या

5 जून: कूच बिहार में तृणमूल कांग्रेस के नेता अजीजर रहमान की हत्‍या

बीजेपी का दावा है कि ममता राज में अब तक 60 बीजेपी कार्यकर्ताओं की मौत हो चुकी हैं.

Related Posts