‘बस दो काम छोड़कर सब करा दिया’, PM मोदी के गोद लिए गांव जयापुर में धाकड़ गर्ल्स की पड़ताल

प्रधामंत्री नरेंद्र मोदी के आदर्श ग्राम जयापुर में एक अटल नगर भी स्थापित कराया गया था, जिसमें दलित लोगों को रहने के लिए पक्के मकान उपलब्ध कराए गए थे.

वाराणसी: सांसद आदर्श ग्राम योजना की शुरुआत करने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गोद लिए गांव जयापुर में पहुंची धाकड़ लड़कियां. यहां के विकास और परेशानियों को लेकर धाकड़ लड़कियों ने कुछ लोगों से बातचीत की.

इस गांव में लोगों का मानना है कि आदर्श ग्राम बनने से जयापुर की तस्वीर बदल गई है पर कुछ कमी भी रह गई है. गंदे पानी के निकासी पर एक महिला ने बताया कि गंदे पानी को निकलने के लिए व्यवस्था नहीं है कोई नाला नहीं है. नालियों में गंदे पानी को निकलने के लिए कोई सुविधा नहीं है.

जयापुर में धाकड़ लड़कियों ने स्वरोजगार की पड़ताल की तो पता चला कि अधिकांश महिलाओं के लिए स्वरोजगार के साधन उपल्ब्ध हैं. पानी और बिजली की व्यवस्था को लेकर एक वृद्ध महिला ने बताया कि गांव में पानी और बिजली की व्यवस्था सही है. सौलर और पानी का कनेक्शन लोगों के घर पर है.

एक छात्रा ने बताया कि पहले से ज्यादा सुविधाएं गांव में हो गई हैं. बैंक की सुविधा हो गई है और सभी के खाते खुल गए हैं. मनरेगा के तहत वाटर लेवल को सही रखने के लिए तालाब खुदवाया गया था जिसकी हालत खराब मिली. सड़क की हालात भी खराब मिली.

गांव के प्रधान ने खराब सड़कों को लेकर बताया कि सड़को की स्थिति ठीक नहीं है पैसा खर्च हुआ पर टेक्निकल वजह से कमी रह गई. प्रधामंत्री मोदी ने एक अटल नगर भी स्थापित कराया था जिसमें दलित लोगों को रहने के लिए पक्के मकान उपलब्ध कराए गए थे.

गांव की समस्याओं पर उत्तरी विधायक रविन्द्र जयसवाल ने बताया कि नाली, सड़क, शौचालय की व्यवस्था करा दी गई है. उन्होंने कहा कि जो भी कमियां रह गई हैं उनको जल्द पूरा करेंगे.

ये भी पढ़ें- पीएम मोदी के इन बयानों से नहीं टूटी चुनाव आचार संहिता, EC ने आठवीं बार दिया क्लीन चिट

ये भी पढ़ें- VIDEO: ‘जब नाश मनुज पर छाता है…’, PM मोदी को दुर्योधन बता प्रियंका ने पढ़ी कविता