हैरान हूं… शहादत का जश्‍न मनाने वालों के साथ खड़ी हैं दीपिका, JNU जाने पर भड़कीं स्‍मृति ईरानी

वहीं इंदौर से कई वीडियो भी सामने आए हैं, जहां पर दीपिका के खिलाफ लोगों ने उनकी फिल्म 'छपाक' के पोस्टर जलाए.

दीपिका पादुकोण की फिल्म ‘छपाक’ आज रिलीज हो गई है. हालांकि दीपिका की इस फिल्म का देश का एक तबका कड़ा विरोध कर रहा है. ऐसा इसलिए क्योंकि हाल ही में दीपिका ने अपना समर्थन जेएनयू छात्रों को दिया था. दीपिका ने जेएनयू छात्रों की पब्लिक मीटिंग में हिस्सा लिया था, जिसमें कन्हैया कुमार ने आजादी के नारे लगाए थे.

BJP ‘तानाजी’ तो कांग्रेस ने बांटे ‘छपाक’ के टिकट

इस तरह दीपिका को लेकर देश दो गुट में बंट गया है. ‘छपाक’ के साथ-साथ आज अजय देवगन की फिल्म ‘तानाजी : द अनसंग वॉरियर’ भी रिलीज हुई है. इसी बीच भोपाल से एक दृश्य ऐसा भी देखने को मिला कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) एक तरफ जहां दीपिका के विरोध में ‘तानाजी’ की टिकट लोगों को बांट रही है, तो वहीं दूसरी ओर कांग्रेस के लोग ‘छपाक’ की टिकट बांट रहे हैं.

वहीं इंदौर से कई वीडियो भी सामने आए हैं, जहां पर दीपिका के खिलाफ लोगों ने उनकी फिल्म ‘छपाक’ के पोस्टर जलाए. दीपिका पादुकोण को लेकर अब सियासत भी तेज हो गई है. गुरुवार को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने छपाक को राज्य में टैक्स फ्री कर दिया था, जिसके बाद से बीजेपी कांग्रेस पर हमलावार है.

शहादत का जश्न मनाने वालों के साथ खड़ी थीं दीपिका

इसके साथ ही बीजेपी दीपिका की भी आलोचना कर रही है. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा, “हमें हैरानी है कि दीपिका उन लोगों के साथ जाकर खड़ी हुई, जो जवानों के शहीद होने का जश्न मनाते हैं. ये वो लोग हैं जो भारत के टुकड़े-टुकड़े करना चाहते हैं.”

दीपिका की आत्मा रोई होगी

वहीं बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ने कहा, “दीपिका को टीवी पर देखकर मुझे ऐसा लगा कि शायद वे गलती से वहां पहुंच गईं. जब कन्हैया कुमार नारे लगा रहा था, तो मुझे लगता है कि दीपिका की अंतरआत्मा कहीं न कहीं अंदर रो रही होगी. उनकी आत्मा कह रही होगी कि मैं गलत जगह आ गई हूं.”

फिल्मों-कलाकारों पर न करें राजनीति

मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ ने एक के बाद एक ट्वीट करते हुए उन सभी पर निशाना साधा, जो कि दीपिका की आलोचना कर रहे हैं. कमलनाथ ने लिखा, “फ़िल्मों व कलाकारों को दलों में , विचारधाराओ में बांटना व राजनीति से जोड़ना पूरी तरह से ग़लत परंपरा है. यह परंपरा पिछले कुछ वर्षों से प्रारंभ हुई है. कई फ़िल्में अच्छे सामाजिक संदेश के साथ और सामाजिक बदलाव के उद्देश्य के साथ बनती हैं.”

इसके बाद उन्होंने लिखा, “कलाकार भी एक इंसान हैं, उन्हें भी अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की आज़ादी है. उसके लिये उन्हें कोसना, उनका विरोध करना, उनके विरोध में बोलना क़तई उचित नहीं. विचारधारा के आधार पर एक फ़िल्म का सपोर्ट और एक का विरोध, यह हम देश को कहां ले जा रहे हैं?”

दीपिका ने अच्छा किया

दीपिका पादुकोण का समर्थन करते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने कहा, “दीपिका ने जो किया वो अच्छा किया.”

फिर कहेंगे महिलाओं का सम्मान नहीं किया

बीजेपी का साथ छोड़ कांग्रेस का दामन पकड़ने वाली नेता कीर्ती आजाद ने कहा, “यह दीपिका का अपना व्यक्तिगत फैसला है.” इसके साथ ही आजाद ने स्मृति ईरानी पर हमला बोलेत हुए कहा, “घड़ी में तोला, घड़ी में मासा. गोधरा के बाद मोदी जी का इस्तीफा मांग रही थीं और आज उनके साथ केंद्र में मंत्री हैं. इससे ज्यादा बोलूंगी तो बोलेंगी कि महिलाओं का सम्मान नहीं करता.”

 

ये भी पढ़ें-   Bigg Boss 13 : तेरे बाप के नौकर नहीं… जानें क्यों शहनाज पर भड़के पारस और माहिरा

46 साल के हुए बॉलीवुड के ग्रीक गॉड ऋतिक रोशन, एक्स-वाइफ सुजैन ने शेयर किया स्पेशल पोस्ट