बीएमसी कंगना को नहीं देना चाहती 2 करोड़ का मुआवजा, बॉम्बे हाई कोर्ट में दी ये दलील

कंगना (Kangana Ranaut) 9 सिंतबर को मुंबई पहुंची थीं, लेकिन उनकी फ्लाइट के शहर में लैंड करने से पहले ही बीएमसी (BMC) ने अभिनेत्री के ऑफिस में अवैध निर्माण बताते हुए तोड़फोड़ कर दी थी.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 9:09 am, Sat, 19 September 20

अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) और बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) में चल रहे विवाद के बीच मुंबई (Mumbai) की सिविक बॉडी ने बॉम्बे हाई कोर्ट में अपना हलफनामा दायर किया है. यह हलफनामा कंगना के ऑफिस में बीएमसी की कथित अवैध कार्रवाई को लेकर मुआवजे के तौर पर मांगे गए दो करोड़ रुपये के खिलाफ बीएमसी द्वारा दायर किया गया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, हलफनामे में बीएमसी में कंगना की याचिका को कानूनी प्रक्रिया के खिलाफ बताते हुए इसका दुरपयोग करने का आरोप लगाया. इतना ही नहीं बीएमसी ने बॉम्बे हाई कोर्ट से गुजारिश की है कि वह कंगना रनौत की याचिका को खारिज कर दे. साथ ही कानूनी प्रक्रिया का दुरुपयोग बताते हुए ऐसा याचिका दायर करने वालों के खिलाफ जुर्माना लगाने की अपील की.

ये भी पढ़ें- अटेंशन पाने के लिए जरूरत से ज्यादा बोलती हैं कंगना रनौत : रणवीर शौरी

22 सितंबर को होगी मामले की सुनवाई

बताते चलें कि मुंबई की तुलना पीओके से करने वाले बयान के बाद कंगना रनौत शिवसेना के निशाना पर थीं. कंगना और शिवसेना नेता संजय राउत के बीच तीखी बयानबाजी शुरू थी कि कंगना ने इस बीच 9 सिंतबर को मनाली से वापस मुंबई आने का ऐलान कर दिया.

इससे पहले कि कंगना मुंबई पहुंचती 9 सिंतबर को शिवसेना द्वारा नियंत्रित बीएमसी ने अभिनेत्री के ऑफिस में अवैध निर्माण बताते हुए तोड़फोड़ कर दी. कंगना के वकील ने बीएमसी की कार्रवाई के खिलाफ कोर्ट में याचिका दाखिल की, जिसके बाद बीएमसी की कार्रवाई पर तुरंत रोक लगाई गई. इसे आम लोगों से लेकर कई राजनीतिक पार्टियों और बॉलीवुड हस्तियों ने बदले की कार्रवाई और अवैध बताया.

ये भी पढ़ें- ड्रीम 11 आईपीएल 2020 का आगाज करेंगे फरहान अख्तर, रोहित और धोनी की टीम के बीच होगी टक्कर

इसके बाद 15 सितंबर को कंगना ने बॉम्बे हाई कोर्ट में अपनी संशोधित याचिका दायर करते हुए बीएमसी से मुआवजे के तौर पर 2 करोड़ रुपये की मांग की. कोर्ट इस मामले पर 22 सिंतबर को सुनाई करेगा.