Happy Birthday Sunny Paaji: ‘बरसात से बचने की हैसियत नहीं और…’ सनी देओल के 10 मजेदार डायलॉग

एक्टिंग के गुण उन्हें (Sunny Deol) पिता (Dharmendra) से विरासत में ही मिले हैं, तभी 1982 से लेकर अभी तक सनी देओल का बड़े पर्दे पर जलवा कायम है.

Sunny Deol, Sunny Deol Birthday, Sunny Deol Dialogues,
आज सनी देओल का 64वां जन्मदिन है.

बॉलीवुड में अपने एक्शन और दमदार डायलॉग्स के लिए मशहूर सनी देओल (Sunny Deol) आज अपना 64वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रहे हैं. फिल्मी पर्दे पर अक्सर गुस्से में दिखने वाले सनी देओल असल जीवन में बेहद सौम्य और शांत हैं. सनी देओल, मशहूर अभिनेता धर्मेंद्र (Dharmendra) के बड़े बेटे हैं. सनी देओल अपने पिता के बेहद करीब हैं. एक्टिंग के गुण उन्हें पिता से विरासत में ही मिले हैं, तभी 1982 से लेकर अभी तक सनी देओल का बड़े पर्दे पर जलवा कायम है.

फिल्मों में ही नहीं अब सनी देओल राजनीति में भी अपना हाथ आजमा रहे हैं. सनी देओल ने भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर पिछले लोकसभा चुनावों में पंजाब की गुरदासपुर सीट से चुनाव लड़ा था. उनके सामने कांग्रेस के धुरंधर सुनील जाखड़ खड़े थे, पर अपने एक्टर फैक्टर और अच्छी फैन फॉलोइंग के कारण सनी यहां से चुनाव जीतकर संसद पहुंचे.

Mirzapur 2 : गजगामिनी नाम है हमारा और हम कहे के पक्के हैं… श्वेता का वीडियो देख फैंस हुए घायल

सिनेमा को दी बेहतरीन फिल्में

सनी देओल ने 1982 में आई फिल्म बेताब से अपना फिल्मी करियर शुरू किया था. सनी देओल ने घातक, घायल, गदर,दामिनी, बॉर्डर, इंतेकाम, क्रोध, निगाहें, चालबाज, त्रिदेव, जोशिले, नरसिम्हा, डर, इंसानियत, वीरता, गुनाह, जीत, जिद्दी, अर्जुन पंडित, सलाखें, द हीरो लव स्टोरी: ऑफ ए स्पाय जैसी कई बेहतरीन फिल्में हिंदी सिनेमा को दी.

शानदार, जानदार और दमदार डायलॉग्स

सनी देओल को ज्यादातर उनके डांस, जो कि उन्हें नहीं आता और उनके दमदार डायलॉग्स के लिए जाना है. तो चलिए आज सनी देओल के जन्मदिन के खास मौके पर उनके दस शानदार, जानदार और दमदार डायलॉग्स पर एक नजर.

1. आप अपने बच्चों को एक ऐसा शहर विरासत में देना चाहते हैं जो गुंडे, बदमाश और ख़ूनी चला रहे हों. – नरसिम्हा

2. अशरफ अली! आपका पाकिस्तान ज़िंदाबाद है, इससे हमें कोई ऐतराज़ नहीं लेकिन हमारा हिंदुस्तान ज़िंदाबाद है, ज़िंदाबाद था और ज़िंदाबाद रहेगा! – गदर : एक प्रेम कथा

3. ये मजदूर का हाथ है कात्या, लोहा पिघलाकर उसका आकार बदल देता है! ये ताकत ख़ून-पसीने से कमाई हुई रोटी की है. मुझे किसी के टुकड़ों पर पलने की जरूरत नहीं. – घातक

4. जाओ बशीर ख़ान जाओ, किसी नाटक कंपनी में भर्ती हो जाओ, बहुत तरक्की मिलेगी तुम्हे, अच्छी एक्टिंग कर लेते हो. – घायल

5. डरा के लोगों को वो जीता है, जिसकी हडि्डयों में पानी भरा हो. इतना ही मर्द बनने का शौक है न कात्या, तो इन कुत्तों का सहारा लेना छोड़ दे. – घातक

Puri Baatein : ओम पुरी के बर्थडे पर यूट्यूब चैनल लॉन्च, देखें एक्टर की Unseen Photos

6. जो दर्द तुम आज महसूस करके मरना चाहते हो, ऐसे ही दर्द लेकर हम रोज़ जीते हैं. – घातक

7.  चिल्लाओ मत, नहीं तो ये केस यहीं रफा-दफा कर दूंगा. न तारीख़ न सुनवाई, सीधा इंसाफ. वो भी ताबड़तोड़. – दामिनी

8. दुनिया जानती है कि बंटवारे के वक्त हम लोगों ने आप लोगों को 65 करोड़ रुपए दिए थे तब जाकर आपके छत पर तिरपाल आई थी। बरसात से बचने की हैसियत नहीं और गोलीबारी की बात कर रहे हैं आप लोग. – गदर : एक प्रेम कथा

9. जब यह ढाई किलो का हाथ किसी पे पड़ता है तो आदमी उठता नहीं, उठ जाता है. – दामिनी

10. एक कागज पर मोहर नहीं लगेगी तो क्या तारा पाकिस्तान नहीं जाएगा? मुझे मेरे बच्चे को उसकी मां से मिलाने से कोई ताकत, कोई सरहद नहीं रोक सकती. – गदर : एक प्रेम कथा

Related Posts