Sushant Death Mystery : सीबीआई और एम्स मेडिकल बोर्ड की बैठक टली, अभी करना होगा इंतजार

एम्स (AIIMS) की फॉरेंसिक टीम एजेंसी के विशेष जांच दल (एसआईटी) की टीम के सदस्यों से दक्षिण दिल्ली के लोधी रोड इलाके में उनके मुख्यालय में मुलाकात करने वाली थी.

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत की जांच कर रही केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के साथ एम्स के मेडिकल बोर्ड की मंगलवार को होने वाली बैठक टल गई है. इस केस में होने वाले खुलासों के लिए अभी और इंतजार करना होगा. सूत्रों के मुताबिक इस मीटिंग में एजेंसी और मुंबई गईं सीएफएसएल (CSFL) की टीमों की जांच से निकले निष्कर्षों के आधार पर आगे के कदम को लेकर फैसला किया जाना था.

सीबीआई के सूत्रों के अनुसार, एम्स की फॉरेंसिक टीम एजेंसी के विशेष जांच दल (एसआईटी) की टीम के सदस्यों से दक्षिण दिल्ली के लोधी रोड इलाके में उनके मुख्यालय में मुलाकात करने वाली थी. इस दौरान सभी रिपोर्ट का अध्ययन करके यह जांच की जाती कि क्या अभिनेता की मृत्यु के मामले में कोई गड़बड़ी हुई थी.

सुशांत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने सोशल मीडिया से लिया ब्रेक, दर्द से उबरने की दी दुहाई

पूरी हुई फॉरेंसिक जांच

6 अगस्त से सुशांत की मौत के मामले की जांच कर रही सीबीआई पहले भी ऑटोप्सी की रिपोर्ट के अध्ययन में एम्स की फॉरेंसिंक टीम की मदद ले चुकी है. यह रिपार्ट कूपर अस्पताल द्वारा दी गई थी. डॉ. सुधीर गुप्ता की अगुवाई में एम्स की फोरेंसिक टीम ने एक मेडिकल बोर्ड का गठन किया है और टीम ने सुशांत के बांद्रा फ्लैट का भी दौरा किया था. इस दौरान पूरा क्राइम सीन फिर से क्रिएट किया गया था.

ड्रग्स मामले में आया श्रद्धा कपूर का नाम, सारा और रकुल प्रीत को भी समन भेजेगी एनसीबी

मेडिकल बोर्ड की राय अहम

एम्स की टीम को सुशांत की बहन मीतू सिंह, दिवंगत अभिनेता के फ्लैटमेट सिद्धार्थ पिठानी और निजी कर्मचारी दीपेश सावंत, नीरज सिंह और केशव बच्चन ने भी मदद की थी. पता चला है कि एम्स का मेडिकल बोर्ड सीबीआई को राय देगा जो बिना किसी संदेह के पूरी तरह से ‘निर्णायक’ होगी. हालांकि इससे पहले बोर्ड एजेंसी द्वारा निकाले गए निष्कर्षों का पूरा अध्ययन करेगा. सुशांत की रहस्यमयी मौत की जांच सीबीआई के अलावा, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) भी कर रहे हैं.

Related Posts