Chhapaak Controversy : 15 तक फिल्म की स्क्रीनिंग पर रोक, HC का आदेश- वकील को क्रेडिट दो

लक्ष्मी की वकील अपर्णा भट्ट ने पटियाला हाउस कोर्ट में याचिका दाखिल कर कहा था कि उसने काफी समय तक पीड़िता का केस लड़ा. साथ ही उन्होंने फिल्म की स्क्रिप्टिंग में भी मदद की थी.

फिल्म ‘छपाक’ की निर्माता कंपनी फॉक्स स्टूडियो ने दिल्ली हाई कोर्ट में ट्रायल कोर्ट के फैसले को चुनौती दी थी, जिसमें कंपनी ने कहा था कि वे एसिड अटैक पीड़िता की वकील अपर्णा भट्ट को क्रेडिट नहीं देंगे.

दिल्ली हाइकोर्ट ने फॉक्स स्टूडियो द्वारा दायर की गई याचिका को खारिज कर दिया है. साथ ही कोर्ट ने इस मामले में पटियाला हाउस कोर्ट के फैसले को सही ठहराया है. इतना ही नहीं कोर्ट ने बिना क्रेडिट दिए फिल्म की स्क्रीनिंग पर रोक लगा दी है.

न्यायाधीश प्रतिभा एम. सिंह ने निर्देश दिया कि यह प्रतिबंध 15 जनवरी से मल्टीप्लेक्स और लाइव स्ट्रीमिंग एप्स पर लागू हो जाएगा. वहीं अन्य माध्यमों पर यह रोक 17 जनवरी से लागू होगी.

अब हाई कोर्ट के फैसले के बाद दीपिका पादुकोण स्टारर फिल्म की निर्माता कंपनी को वकील अपर्णा भट्ट को क्रेडिट देना होगा.

यह फिल्म एसिड अटैक विक्टिम लक्ष्मी अग्रवाल की जिंदगी पर आधारित है. लक्ष्मी की वकील अपर्णा भट्ट ने पटियाला हाउस कोर्ट में याचिका दाखिल कर कहा था कि उसने काफी समय तक पीड़िता का केस लड़ा और फिल्म की स्क्रिप्टिंग में भी मदद थी.

उन्होंने कहा कि फिल्म के निर्माता और निर्देशक ने उन्हें क्रेडिट देने का वायदा भी किया था, लेकिन अंतिम समय में उन्हें पता चला कि फिल्म के क्रेडिट रोल में उनका नाम नहीं था.

अपर्णा की याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा था, “यह आवश्यक है कि वास्तविक फुटेज और चित्र प्रदान करके वकील के योगदान को स्वीकार किया जाए.”

इसके अलावा कोर्ट ने निर्माताओं से फिल्म की स्क्रीनिंग में यह पंक्ति भी जोड़ने के लिए कहा था कि “अपर्णा भट्ट महिलाओं के प्रति यौन और शारीरिक उत्पीड़न के मामलों से लड़ती रहती हैं.” न्यायाधीश ने कहा था, “स्क्रीन पर कही जाने वाली यह पंक्ति एक राइडर ‘कोर्ट के आदेशानुसार’ के साथ चलाई जा सकती है.”

 

ये भी पढ़ें-   Jersey की शूटिंग के दौरान शाहिद कपूर के कट गए होंठ, निकलने लगा खून

Bigg Boss 13 : घरवालों को कार में बिठा घुमाने ले गईं दीपिका, बिग बॉस में पहली बार हुआ ऐसा