Family Of ThakurGanj: फिल्म में वन लाइनर्स की भरमार है और यही इसकी खासियत भी

“जलेबी गरम होतो भक्क से खानी नहीं चाहिए, मुंह जल जाता है और स्वाद भी नहीं आता”.
Family Of ThakurGanj, Family Of ThakurGanj: फिल्म में वन लाइनर्स की भरमार है और यही इसकी खासियत भी

नई दिल्ली: ‘साहेब बीवी और गैंगस्टर’ के बाद इसी तरह की एक दूसरी फिल्म ‘फैमिली ऑफ ठाकुरगंज’ के साथ जिमी शेरगिल और माही गिल फिर से अपने एक्शन अवतार से दर्शकों को चौंकाने के लिए बिल्कुल तैयार हैं. इस फिल्म का दो मिनट लंबा ट्रेलर गुरुवार को लॉन्च किया गया.

ट्रेलर की शुरुआत में जिमी फोन पर किसी को धमकी देते नजर आते हैं. अभिनेता सौरभ शुक्ला को फिल्म के ट्रेलर में तलवार के रूप में पेश किया गया है जबकि माही को ‘दमदार’ कहा गया.

फिल्म के दमदार संवादों और माही के लुक को देखकर यही लगता है कि ‘फैमिली ऑफ ठाकुरगंज’ की कहानी भी कुछ हद तक ‘साहेब बीवी और गैंगस्टर’ के जैसे ही होगी.

ट्रेलर में सुप्रिया पिलगांवकर और नंदीश संधु भी महत्वपूर्ण भूमिका में नजर आ रहे हैं.

ट्रेलर देखकर एक बात साफ है कि फिल्म में वन लाइनर डायलॉग्स की भरमार है. सभी कैरेक्टर्स का इंट्रोडक्शन वन लाइनर की पटक से साथ हुआ है. एक सीन में सौरभ शुक्ला कहते हैं, “जलेबी गरम होतो भक्क से खानी नहीं चाहिए, मुंह जल जाता है और स्वाद भी नहीं आता”.

अजय सिंह राजपूत द्वारा निर्मित यह फिल्म उत्तर भारत के एक छोटे से शहर पर आधारित है और पारिवारिक और सांस्कृतिक मूल्यों और नए विचारों के इर्द-गिर्द घूमती है.

फिल्म के बारे में बात करते हुए राजपूत ने पहले बताया था, “इस फिल्म के बारे में सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इस फिल्म के लेखक दिलीप शुक्ला हैं जिन्होंने ‘दामिनी’, ‘अंदाज अपना अपना’, ‘दबंग’, ‘दबंग 2’ और कई और ब्लॉबस्टर फिल्मों की कहानियां लिखी हैं.”

Related Posts