इस्लाम को वजह बता शाजिया कुश्क ने सिंगिंग को कहा अलविदा, गा चुकी हैं कई मशहूर गानें

अपने 25 साल के सिंगिंग प्रोफेशन में शाजिया ने कई बेहतरीन गाने गाए, जिनमें 'दमादम मस्त कलंदर', 'तेरा नाम लिया', 'लाल मेरी पत रखियो' जैसे कई मशहूर गाने शामिल हैं.
Shazia Khushk, इस्लाम को वजह बता शाजिया कुश्क ने सिंगिंग को कहा अलविदा, गा चुकी हैं कई मशहूर गानें

जिस तरह ‘दंगल’ गर्ल जायरा वसीम ने इस्लाम और अल्लाह का नाम लेकर फिल्म इंडस्ट्री से अलविदा कह दिया था, उसी तरह पाकिस्तान की मशहूर फॉक सिंगर शाजिया कुश्क ने सिंगिंग प्रोफेशन को छोड़ने का फैसला कर लिया है.

शाजिया कुश्क ने इस फैसले के पीछे इस्लाम को वजह बताया है. उनका कहना है कि यह प्रोफेशन उनके धार्मिक उसूलों से मेल नहीं खाता है. पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, सिंगिंग से सन्यास लेने के बाद शाजिया अपनी बाकी की जिंदगी इस्लाम की सेवा करके बिताना चाहती हैं.

रिपोर्ट्स के अनुसार, शाजिया को विदेशों से कई ऑफर मिल रहे हैं, लेकिन उन्होंने इन सभी ऑफर्स को स्वीकार करने से इनकार कर दिया है, क्योंकि उनका मानना है कि यह उनके धार्मिक उसूलों के खिलाफ है.

शाजिया ने कहा, “मैं उन सभी की शुक्रगुजार हूं, जिन्होंने मेरे गानों को पसंद किया और मुझे ढेर सारा प्यार दिया. मुझे लगता है कि लोग मेरे सिंगिंग प्रोफेशन को छोड़ने वाले फैसला का सम्मान करेंगे.”

इसके बाद शाजिया ने कहा, “मैं वापस इस प्रोफेशन के बारे में नहीं सोच रही क्योंकि मैंने इसे छोड़ने का फैसला बहुत ही सोच समझ कर लिया है.”

अपने 25 साल के सिंगिंग प्रोफेशन में शाजिया ने कई बेहतरीन गाने गाए, जिनमें ‘दमादम मस्त कलंदर’, ‘तेरा नाम लिया’, ‘लाल मेरी पत रखियो’ जैसे कई मशहूर गाने शामिल हैं.

ये भी पढ़ें-   क्या बंद हो जाएगा ‘बिग बॉस 13’? केंद्रीय मंत्री को चिट्ठी लिखकर CIAT ने की बैन की मांग

कभी अमृता सिंह ने विनोद खन्ना से अफेयर करने का लिया था चैलेंज!

Related Posts