VIDEO: पूर्व मिस इंडिया यूनिवर्स उशोशी के साथ आधी रात बदतमीजी, FB में सुनाई आपबीती

उशोशी ने घटना का एक वीडियो भी शेयर किया है, जिसमें कुछ लड़के एक गाड़ी को घेर कर खड़े हैं और बदतमीजी करते नजर आ रहे हैं.

कोलकाता: पूर्व मिस इंडिया यूनिवर्स उशोशी सेनगुप्ता के साथ कुछ लड़कों द्वारा गालीगलौच और मारपीट करने का मामला सामने आया है. यह घटना उस समय हुई जब उशोशी सोमवार देर रात काम से वापस घर लौट रही थी.

इस घटना की जानकारी उशोशी ने अपने फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट करके दी है. इसके साथ ही उन्होंने एक वीडियो भी शेयर किया है, जिसमें कुछ लड़के एक गाड़ी को घेर कर खड़े हैं और बदतमीजी करते नजर आ रहे हैं.

उशोशी ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा, “पिछली रात, 18 जून, 2019 को करीब 11:40 पर काम खत्म करने के बाद जेडब्ल्यू मैरियट कोलकाता से घर जाने के लिए उबर ली. मैं अपने एक कलीग के साथ थी. रास्ते में कुछ लड़के बिना हेलमेट बाइक पर आए और उन्होंने उबर को हिट कर दिया. वे करीब 15 लड़के थे. उन्होंने ड्राइवर को गाड़ी से खींचा और उसके साथ मारपीट की. इसके बाद मैं बाहर निकली और उनपर चिल्लाते हुए उनका वीडियो बनाना शुरू कर दिया.”

“मैं मैदान पुलिस थाने की तरफ गई. मैंने एक पुलिस अधिकारी को खड़े देखा और उससे विन्नती की कि वो मेरे साथ आए. इस पर उन्होंने मुझसे कहा कि वह इलाका उनके अंडर नहीं आता और यह भवानीपोर पुलिस थाने के अंतर्गत आता है. उस समय मैं टूट चुकी थी मैंने उनसे विन्नती की कि वो मेरे साथ चलें वरना वे लड़के ड्राइवर को मार देंगे. इसके बाद वह पुलिस अधिकारी मेरे साथ आया. एक लड़के ने अधिकारी को धक्का मारा और फिर वे वहां से भाग निकले. इसके बाद दो पुलिस अधिकारी भवानीपोर पुलिस थाने से आए, तब तक 12 बज चुके थे. मैंने ड्राइवर से रिक्वेस्ट की कि वह मुझे और मेरे कलीग को घर छोड़ दे. हमने फैसला किया था कि अगली सुबह पुलिस थाने आकर केस दर्ज कराएंगे.”

“मैं हैरान थी कि लड़कों ने हमारा मेरे कलीग के घर तक पीछा किया. जब कलीग को लैक गार्डन गवर्नमेंट हाउसिंग के पास ड्रॉप कर रहे थे तो छह लड़की तीन बाइक पर आए और उन्होंने गाड़ी को रोका. उन्होंने गाड़ी पर पत्थर फेंके, शीशा तोड़ दिया. उन्होंने मुझे गाड़ी से बाहर खींचा और वीडियो डिलीट करने के लिए मेरा फोन तोड़ने की कोशिश की. मेरे कलीग डर के कारण वहां से भाग गया था और मैं बुरी तरह से कांप रही थी. मैंने चिल्लाना शुरू किया, जिसके बाद स्थानीय लोग आ गए और फिर लड़के वहां से भाग निकले. इसके बाद मैंने अपनी बहन और पिता को बुलाया और घर पहुंची.”

पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए उशोशी ने आगे लिखा, “यह दूसरी घटना मेरे इलाके से दो लेन छोड़कर ही हुई थी. पुलिसवाले आए और उन्होंने मुझसे कहा कि चारु मार्केट पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराएं. मैं वहां गई और सब इंस्पेक्टर से मिली, जिसने मुझसे कहा कि शिकायत भवानीपुर थाने में ही दर्ज हो सकती है.”

पूरी घटना और पुलिस के रवैये से हताश उशोशी ने लिखा, “मेरी हिम्मत ने जवाब दे दिया था. आधी रात के1:30 बज रहे थे. थाने में कोई भी महिला पुलिस अधिकारी नहीं थी. कई सारे सवाल उठाने के बाद पुलिस अधिकारी ने मेरी शिकायत दर्ज की लेकिन उन्होंने उबर ड्राइवर की शिकायत दर्ज करने से यह कहते हुए इनकार कर दिया कि एक शिकायत दो थानों में दर्ज नहीं की जा सकती. उन्होंने मुझसे कहा कि यह कानून के खिलाफ है. उबर ड्राइवर अपनी शिकायत दर्ज कराने के लिए आग्रह करता रहा लेकिन अधिकारी ने उनकी शिकायत नहीं दर्ज की.”

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, फिलहाल पुलिस ने इस मामले में सात लड़कों को गिरफ्तार कर लिया है और अन्य की तलाश जारी है.