‘सुपर डील्कस’ में ट्रांसवुमन के किरदार में विजय सेतुपति, पहचान पाना मुश्किल

इस फिल्म के सभी कलाकारों ने अपने किरदार से पूरा इंसाफ किया है. यह फिल्म कहीं भी बोर नहीं करती है और निर्देशक त्यागराजन कुमार राजा की यह फिल्म बड़े पर्दे पर अच्छी साबित हुई है.

मुंबई: राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता त्यागराजन कुमार राजा के निर्देशन में बनी फिल्म ‘सुपर डीलक्स’ शुक्रवार को बड़े पर्दे पर रिलीज हुई और इस फिल्म को लोगों ने काफी पसंद किया. इस फिल्म को ऑडियन्स का अच्छा रिस्पांस मिला है. यह एक तमिल थ्रिलर फिल्म है, जिसमें विजय सेतुपती, राम्या कृष्णन, समांथा और फाहाद फाजिल अहम भूमिका में हैं. यह फिल्म कई किरदारों की कहानियों के इर्द-गिर्द घूमती हुई नजर आती है.

आइये स्टेप बाय स्टेप इन तीनों कहानियों के बारे में जानते हैं.

  • सबसे पहले वेंबू यानि समांथा की कहानी को दिखाया गया है, जो कि शादीशुदा होती है. वेंबू के पति मुगिल (फाहाद फाजिल) होते हैं. मुगिल वेंबू से प्यार करता है लेकिन वेंबू को उसमें कुछ खास दिलचस्पी नहीं होती. वेंबू एक दिन अपने घर अपने एक्स बॉयफ्रेंड को बुलाती है और दोनों के बीच कुछ ऐसा होता है जो कि सभी को हैरानी में डाल देता है.
  • दूसरी कहानी ज्याति की है, जिसका पति ट्रांसवुमन (शिल्पा) होता है. ट्रांसवुमन के किरदार में विजय सेतुपती हैं.
  • तीसरी कहानी तीन युवाओं की है, जिनमें से एक की मां लीला पूर्व पोर्न स्टार होती है. पोर्न स्टार की भूमिका में राम्या कृष्णन हैं. उन्हें इस किरदार को निभाने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था लेकिन बड़े पर्दे पर आपको ऐसा नहीं लगेगा कि राम्या पहली बार इस प्रकार का किरदार निभा रही हैं.

हालांकि हम आपको फिल्म की पूरी कहानी तो नहीं बता सकते, लेकिन इतना जरूर बताएंगे कि फिल्म आपको काफी पसंद आएगी. इसे देखने के लिए आप सिनेमाघर का रुख कर सकते हैं. इसे देखकर न तो आपका पैसा बर्बाद होगा न आपका समय खराब होगा.