ऐसी महिलाओं की कोख से ही पैदा होते हैं रेपिस्ट, इंदिरा जयसिंह पर भड़कीं कंगना रनौत

कंगना ने यह बात अपनी आगामी फिल्म 'पंगा' की स्पेशल स्क्रीनिंग के दौरान हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस के वक्त कही.

देश के मुद्दों को लेकर अपनी राय रखनी हो या फिर फिल्मी मुद्दों पर, कंगना रनौत हमेशा बेबाकी से अपनी बात रखती हैं. हाल ही में कंगना, वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह पर बरसी हैं, जिन्होंने निर्भया की मां आशा देवी से अपील की थी कि उन्हें अपनी बेटी के दोषियों को मांफ कर देना चाहिए.

इंदिरा जयसिंह की इस बात पर कंगना भड़क गईं और उन्होंने कह दिया कि जयसिंह जैसी महिलाओं की कोख से ही रेपिस्ट पैदा होते हैं. इंदिरा जयसिंह पर जमकर बरसते हुए कंगना ने कहा कि उनके जैसी औरतों को रेपिस्ट्स के साथ जेल में कुछ दिन रखना चाहिए. उनकी हिम्मत भी कैसे हुई इस तरह की सलाह देने की.

कंगना ने यह बात अपनी आगामी फिल्म ‘पंगा’ की स्पेशल स्क्रीनिंग के दौरान हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस के वक्त कही. यहां कंगना से निर्भया के दोषियों को लेकर सवाल किया गया तो वे काफी गुस्से में आ गईं और कहने लगीं कि ऐसे लोगों को केवल फांसी ही होनी चाहिए.

कंगना ने उस जुवेनाइल को छोड़े जाने पर भी सवाल खड़े किए, जिसने इतना घिनौनी अपराध किया, लेकिन कम उम्र होने के कारण उसे तीन साल की सजा के बाद रिहा कर दिया गया. एक्ट्रेस ने कहा कि जो रेप कर रहा है वो किस हिसाब से माइनर है. ऐसे लोगों को चौराहे पर मारना चाहिए.

ऐसे लोग रेपिस्ट्स का साथ देकर पैसा कमाते हैं

बताते चलें कि इंदिरा जयसिंह के इस बयान पर निर्भया की मां आशा देवी भी काफी भड़की थीं. आशा देवी ने कहा था कि “इंदिरा जयसिंह कौन होती हैं मुझे ऐसी सलाह देने वाली? पूरा देश दोषियों को फांसी चढ़ते देखना चाहता है. उन जैसे लोगों की वजह से रेप पीड़‍िताओं को इंसाफ नहीं मिलता.”

आशा देवी ने आगे कहा था, “यकीन नहीं होता कि कैसे इंदिरा जयसिंह ने ऐसा सुझाव देने की हिम्‍मत की. मैं उनसे सुप्रीम कोर्ट में कई बार मिली हूं और उन्‍हें एक बार मेरा हाल भी पूछा था और आज वो दोषियों के लिए बोल रही हैं. ऐसे लोग रेपिस्‍ट्स का साथ देकर पैसा कमाते हैं, इसी वजह से रेप की घटनाएं नहीं रुकतीं.”

क्या बोली थीं इंदिरा जयसिंह

वरिष्‍ठ वकील इंदिरा जयसिंह ने अपने एक ट्वीट में कहा था, “मैं आशा देवी का दर्द समझती हूं मगर मैं उनसे सोनिया गांधी के रास्‍ते पर चलने को कहूंगी जिन्‍होंने नलिनी (राजीव गांधी की हत्‍यारिन) को माफ कर दिया और कहा कि उसके लिए मौत की सजा नहीं चाहतीं. हम आपके साथ हैं मगर मौत की सजा के खिलाफ.”

 

ये भी पढ़ें-  200 मुस्लिम नेताओं से मिले सीएम उद्धव ठाकरे, कहा- किसी को नहीं छोड़ना होगा देश

घाना के घर-घर तक पहुंचेगी पीएम मोदी की ‘उज्जवला’ जैसी योजना, मदद करेगा भारत