झूठ बोल रही हैं कंगना रनौत – कहा शिवसेना को दिया वोट, जहां शिवसेना चुनाव लड़ी ही नहीं

एक्ट्रेस ने एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि मुझे चुनावों में गटबंधन की वजह से शिवसेना को वोट देना पड़ा, लेकिन मैं भाजपा की समर्थक हूं,

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत इन दिनों चर्चा में हैं. एक्ट्रेस आए दिन अपने बेबाक बयानों से सुर्खियां बटोर रही हैं. ऐसे में एक्ट्रेस ने एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि मुझे चुनावों में गटबंधन की वजह से शिवसेना को वोट देना पड़ा. मैं खुद एक भाजपा समर्थक हूं और जब मैं वोटिंग मशीन में भाजपा का बटन खोज रही थी तो मुझसे कहा गया कि शिवसेना का बटन दबाना होगा. कंगना के इस बयान के बाद अब खबर है कि कंगना का ये बयान पूरी तरह से झूटा है.

टाइम्स नाऊ से अपनी खास बातचीत में कंगना ने कहा – चुनाव के दौरान जब मैं बांद्रा में वोट डालने गई थी, वोटिंग मशीन के सामने जाते ही मैंने वहां भाजपा का कमल खोजना शुरू कर दिया, मैं भाजपा समर्थक हूं मुझे उन्हें वोट देना था. लेकिन फिर मुझे शिवसेना का बटन दबाना पड़ा. फिर मैंने कहा कि जब मैं भाजपा को वोट देना चाहती हूं. मैं राजनीति नहीं समझती हूं. मुझे इसका अनुभव नहीं है. मुझे नहीं पता कि ये गठबंधन क्यों हुआ, पर ये हुआ. और, मुझे शिवसेना का बटन दबाने पर मजबूर होना पड़ा, क्योंकि बीजेपी का ऑप्शन नहीं था. उनके गठबंधन के चलते उस एरिया के लिए केवल शिवसेना थी. तो मैंने उन्हें वोट दिया और देखिए उन्होंने मेरे साथ कैसा सलूक किया.

[ यह भी पढ़ें : “इंडिया वाली मां” में अपने रोल के लिए श्रीदेवी जी और हेमा जी से हुई प्रेरित : वंदना लालवानी ]

कंगना विधानसभा चुनाव बांद्रा वेस्ट और लोकसभा चुनाव में नार्थ-सेंट्रल मुंबई सीट के लिए वोट डालती हैं. 2009 से 2019 तक महाराष्ट्र में 3 लोकसभा हुए और 3 विधानसभा चुनाव हुए यानी कुल मिलाकर 6 चुनाव हुए. इनमें से 5 चुनाव भाजपा और शिवसेना ने मिलकर लड़े. केवल 2014 के विधानसभा चुनाव में दोनों पार्टियां आमने सामने थीं. लेकिन गौर करने वाली बात ये है कि गठबंधन के तहत विधानसभा और लोकसभा में बांद्रा वेस्ट और मुंबई नॉर्थ-सेंट्रल सीट भाजपा के खाते में आई, यानि 5 चुनाव में शिवसेना का प्रत्याशी उतरा ही नहीं. ऐसे में कंगना के सामने शिवसेना का वोट देने की मजबूरी कैसे हो सकती है ? ये वाकई सोचने वाली बात है, कि बिना प्रत्याशी के कंगना ने वोट डाला भी तो कैसे.

[ यह भी पढ़ें : सुशांत अपनी डायरी में ये सब लिखा करते थे, क्या आप कर सकते हैं डिकोड? ]

2014 के विधानसभा चुनाव में शिवसेना और भाजपा के कैंडिडेट आमने-सामने थे ऐसे में वोट देने के लिए कंगना के सामने भाजपा का विकल्प बभी था, सिर्फ शिवसेना को वोट देने के लिए मजबूरी नहीं. दैनिक भास्कर की इस रिपोर्ट ने ये साफ कर दिया है कि कंगना का बयान बिलकुल गलत है.

[ यह भी पढ़ें : Viral Video : ब्रूना अब्दुल्ला ने फनी वीडियो शेयर कर लिखा ”इस लड़की ने मेरे पति को मुझसे छीन लिया है” ]

जिसके बाद कंगना ने इसपर अपनी प्रतिक्रिया भी दी है, उन्होंने खबर को ट्वीट करते हुए लिखा है कि ” खर वेस्ट बीएमपी स्कूल में जाकर अपना वोट मैंने शिवसेना के नेता को दिया है, झूटी खबरें फैलाना बंद करो”

Related Posts