प्रेग्नेंसी टालने के फैसले पर समाज ने अलग नजरिए से देखा: मंदिरा बेदी

एक विवाहित महिला के बारे में समाज की सोच अलग है. जब मेरे बच्चे का जन्म हुआ तो मुझे मेरी निजी और पेशेवर जिंदगी के बीच हमेशा बांटा गया: मंदिरा बेदी

बॉलीवुड एक्ट्रेस मंदिरा बेदी एक सक्सेजफुल बिजनेस वुमेन भी हैं. मंदिरा अपनी फिटनेस के लिए भी काफी मशहूर हैं. मंदिरा का कहना है कि यदि शादी और मां बनने के बाद भी किसी महिला का एक सफल करियर है तो भी समाज उसे हमेशा जज करता है.

‘शादी फिट’ नामक एक डिजिटल शो को होस्ट कर रहीं मंदिरा का कहना है, “भारतीय समाज में रहते हुए एक महिला के रूप में आपको कई रूढ़ियों का सामना करना पड़ता है. जब मैंने काम के प्रेशर के चलते प्रेग्नेंसी को टालने का फैसला किया, तो मुझे अलग नजरिए से देखा गया.”

“लोग मुझे एक ऐसी महिला समझने लगे जो करियर-फोकस्ड है. हालांकि यह फैसला मेरे लिए काफी मुश्किल था. आपको लगेगा कि यह अच्छी बात है, लेकिन एक विवाहित महिला के बारे में समाज की सोच अलग है. यहां तक कि जब मेरे बच्चे का जन्म हुआ तो मुझे मेरी निजी और पेशेवर जिंदगी के बीच हमेशा बांटा गया.”

बता दें कि ‘शादी फिट’ ओटीटी प्लेटफॉर्म एमएक्स प्लेयर पर दिखाई जा रही है, यह चार आम जोड़ों के व्यक्तिगत सफर को दर्शाता है, चूंकि वे खुद को अपनी जिंदगी के सबसे बड़े दिन के लिए तैयार करते हैं. शो में प्रतिभागियों को विशेषज्ञों से सलाह मिलती है और ‘फिट कपल’ के टैग को जीतने का मौका भी मिलता है.