‘तारक मेहता का उल्‍टा चश्‍मा’ में हिंदी को बताया मुंबई की भाषा, भड़की MNS तो मेकर्स ने दिया ये बयान

इससे एमएनएस खफा हो गई है और शो के प्रोड्यूसर असित कुमार मोदी-अमित भट से मांफी मांगने को कहा. जब विरोध ज्यादा बढ़ गया तो अमिट भट ने मांफी तो मांग ली लेकिन एमएनएस का गुस्सा शांत नहीं हुआ.
taarak mehta ka ooltah chashmah, ‘तारक मेहता का उल्‍टा चश्‍मा’ में हिंदी को बताया मुंबई की भाषा, भड़की MNS तो मेकर्स ने दिया ये बयान

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनएस) ने सब चैनल पर प्रसारित होने वाले मशहूर शो ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ को एक नोटिस जारी किया है. एमएनएस ने शो का विरोध करते हुए नोटिस इसलिए जारी किया है क्योंकि इसमें एक एपिसोड के दौरान ‘चंपक चाचा’ का किरदार निभाने वाले अमित भट ने मुंबई की भाषा हिंदी कह दी थी.

अब इससे एमएनएस खफा हो गई है और शो के प्रोड्यूसर असित कुमार मोदी-अमित भट से मांफी मांगने को कहा. जब विरोध ज्यादा बढ़ गया तो अमिट भट ने मांफी तो मांग ली लेकिन एमएनएस का गुस्सा शांत नहीं हुआ.

एमएनएस का कहना है कि उन्होंने शो के दौरान ही यह बात कही थी और अब उन्हें शो के दौरान ही मांफी मांगनी होगी. साथ ही एमएनएस ने धमकी दी है कि अगर शो के प्रोड्यूसर और अमित ऐसा नहीं करत हैं तो एमएनएस शो की शूटिंग नहीं होने देगी.

इस हंगामे के बाद ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ के प्रोड्यूसर असित कुमार मोदी ने अपने एक ट्वीट के जरिए इस मुद्दे पर खुलकर बात की. असित कुमार मोदी ने लिखा, “मुंबई महाराष्ट्र में है और हमारे महाराष्ट्र की राजभाषा मराठी ही है. इस में कोई डाउट नहीं है. मैं भारतीय हूं. महाराष्ट्रियन हूं और गुजराती भी हूं. सारी भारतीय भाषाओं का सम्मान करता हूं. जय हिंद.”

इसके बाद तारक मेहता का उल्टा चश्मा के ट्विटर हैंडल से एक वीडियो शेयर किया गया है. वीडियो में कहा गया है कि अगर हमारी बातों से किसी की भावना आहत हुई है तो हम उसके लिए मांफी मांगते हैं.

Related Posts