सुशांत केस की तरह हो दिशा सालियान मामले की जांच, बॉयफ्रेंड रोहन से पूछताछ करे सीबीआई – नितेश राणे

बीजेपी विधायक (Nitesh Rane) ने कहा कि जैसे सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत की सबसे करीबी कड़ी रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) है, वैसे ही दिशा सलियान (Disha Salian) के मामले में सबसे करीब उनके मंगेतर रोहन राय (Rohan Rai) हैं.

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) विधायक नितेश राणे (Nitesh Rane) का कहना है कि सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) केस की तरह अभिनेता की पूर्व मैनेजर दिशा सालियान (Disha Salian) की रहस्यमय मौत की जांच भी सीबीआई (CBI) करे. राणे का कहना है कि उन्हें लगता है कि दिशा के मंगेतर रोहन राय से भी एजेंसी द्वारा पूछताछ की जानी चाहिए. एक चैनल को इंटरव्यू देते हुए नितेश राणे ने यह बात कही.

बीजेपी विधायक ने कहा कि जैसे सुशांत सिंह राजपूत की मौत की सबसे करीबी कड़ी रिया चक्रवर्ती है, वैसे ही दिशा सलियान के मामले में सबसे करीब उनके मंगेतर रोहन राय है. उन्होंने दावा किया कि रोहन जानता है कि 8 जून को जब दिशा की मौत हुई, तब क्या-क्या हुआ था.

ये भी पढ़ें- दस दिनों के लिए मनाली में होम क्वारंटीन रहेंगी कंगना रनौत, होगा कोविड-19 टेस्ट

रोहन के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में थीं दिशा

राणे ने कहा कि आपको यह समझना होगा कि बहुत सीधे-सीधे सबूत हैं या सीधे-आगे के लिंक हैं और एक बहुत ही संदिग्ध तरीका है कि 8 जून के बाद चीजों का अनावरण शुरू हो गया जो 13 तारीख तक पहुंचा. देखा जाए तो दिशा सलियान अपने माता-पिता के साथ नहीं रह थीं, लेकिन वह रोहन राय नाम के एक लड़के के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में थीं.

उन्होंने कहा कि दिशा और रोहन इस साल के अंत या अगले साल तक घर बसाने की योजना बना रहे थे. यह हमने सुना है. हैरानी की बात यह है कि दिशा की मौत के बाद से किसी ने भी आज तक रोहन राय नाम के इस शख्स के बारे में नहीं सुना है और दिशा सलियान प्रकरण पर उसका क्या रुख है? वह बाहर क्यों नहीं आ रहा है और कह रहा है कि यह आत्महत्या नहीं है और यह क्या हो गया?

ये भी पढ़ें- मैगजीन कवर पर जैकलीन फर्नांडीज ने बिखेरा जादू, देखिए तस्वीर

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में अंतिम संस्कार के दो दिन के बाद की तारीख

नितेश राणे ने आगे कहा कि रोहन बाहर भी नहीं आ रहा है और सब कह रहा है. वह पूरी तरह से गायब हो गया है. वह अभी तस्वीरों में कहीं भी क्यों नहीं है? संयोगवश, 9 जून को रोहन राय और उनके दोस्त दिशा के अंतिम संस्कार में साथ थे. अब अगर आप अंतिम पोस्टमार्टम रिपोर्ट को देखते हैं, तो उसकी तारीख 11 जून है. अब अगर रोहन राय और उनके दोस्त 9 जून को दिशा के अंतिम संस्कार में शामिल हुए थे, तो पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर 11 जून की तारीख क्यों थी. यह सब रोहन राय के चरित्र पर संदेह को जन्म देता है.

Related Posts