किस्मत से एक्टर और मेहनत से बने बॉलीवुड के ‘प्राण’, राजेश खन्ना-अमिताभ से दोगुनी थी फीस

प्राण ने 40 के दशक से हिंदी सिनेमा में कदम रखा था और 1990 के दौर तक वह छाए रहे. अपनी दमदार अदाएगी से कई रोल को अमर कर देने वाले प्राण का सपना कुछ और बनने का था. वह एक्टर सिर्फ किस्मत से बने और उनकी मेहनत ने उन्हें नया मुकाम दिया. बॉलीवुड का 'प्राण' बना दिया.
Pran Death Anniversary, किस्मत से एक्टर और मेहनत से बने बॉलीवुड के ‘प्राण’, राजेश खन्ना-अमिताभ से दोगुनी थी फीस

‘ कसमे वादे प्यार वफ़ा सब… बातें हैं बातों का क्या… कोई किसी का नहीं ये झूठे… नाते हैं नातों का क्या’ ये गाना सुनते ही उपकार फिल्म का वो ‘मलंग चाचा’ हमें याद आता है जो बड़े ही धैर्य से जीवन की ये कड़वी सच्चाई हमें सुनाते हैं. ये चाचा यानी अपनी दमदार आवाज और अदायगी से हर किरदार में जान फूंक देने वाले अभिनेता प्राण. उनकी एक्टिंग का हर कोई दीवाना था.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

प्राण जब कॉमेडी करते तो कि हर कोई हंसने पर मजबूर हो जाता. खलनायकी ऐसी कि कोई पिता अपने बेटे का नाम प्राण नहीं रखता था. प्राण की आज पुण्यतिथि है. 12 जुलाई 2013 को मुंबई में उनका निधन हुआ था. प्राण की जिंदगी के उन पहलुओं को जानते हैं, जो बेहद खास है.

प्राण ने 40 के दशक से हिंदी सिनेमा में कदम रखा था और 1990 के दौर तक वह छाए रहे. अपनी दमदार अदाएगी से कई रोल को अमर कर देने वाले प्राण का सपना कुछ और बनने का था. वह एक्टर सिर्फ किस्मत से बने और उनकी मेहनत ने उन्हें नया मुकाम दिया. बॉलीवुड का ‘प्राण’ बना दिया.

उपकार के वक्त चौंक गए कल्याणजी-आनंदजी

फिल्म उपकार में मनोज कुमार ने उन्हें एक सकारात्मक भूमिका निभाने का मौका दिया. मलंग चाचा के रोल में प्राण ऐसे डूबे कि वे और मलंग चाचा एकाकार हो गए. उन पर फिल्माया गया गीत ‘कसमें, वादे, प्यार, वफा सब बातें हैं बातों का क्या…’ आज तक लोगों के ज़हन में बैठा है. कहते हैं कि जब कल्याणजी-आनंदजी को पता चला कि इंदीवर के इस गीत को प्राण पर फिल्माया जाने वाला है तो उन्होंने मनोज कुमार से शिकायत की. उन्होंने कहा था कि प्राण तो पर्दे पर इस गीत का सत्यानाश कर देंगे! बाद में जब उन्होंने गीत का फिल्मांकन देखा, तो प्राण के दीवाने हो गए. ‘उपकार’ के लिए प्राण को फिल्मफेयर पुरस्कार मिला. दर्शकों की नजर में उनकी छवि पूरी तरह बदल गई.

राजेश खन्ना-अमिताभ से स्टारडम में आगे

फिल्म इंडस्ट्री में प्राण का स्टारडम इस कदर था कि वह सुपरस्टार राजेश खन्ना और अमिताभ बच्चन से ज्यादा फीस लेते थे. कहा जाता है कि फिल्म डॉन में अमिताभ बच्चन को 2.5 लाख रुपये फीस के तौर पर मिले थे तो प्राण को 5 लाख रुपये मिले थे. 2001 में भारत सरकार ने उन्हें पद्म भूषण से सम्मानित किया. भारतीय सिनेमा में योगदान के लिये साल 2013 में उन्हें देश में मनोरंजन जगत के सर्वोच्च दादा साहब फाल्के सम्मान से नवाजा गया.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts