राज बब्बर के बेटे प्रतीक ने ओपन लेटर के जरिए बताया, कैसे लगी ड्रग की लत…

लेटर के जरिए प्रतीक ने बताने कि कोशिश की है कि ड्रग्स के चंगुल से बाहर निकलना मुमकिन है. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि इससे बाहर निकलने का सबसे अच्छा तरीका रिहैब है.
prateik babbar open letter, राज बब्बर के बेटे प्रतीक ने ओपन लेटर के जरिए बताया, कैसे लगी ड्रग की लत…

मशहूर अभिनेता राज बब्बर और नेशनल अवार्ड से सम्मानित एक्ट्रेस स्मिता पाटिल के बेटे प्रतीक बब्बर ने बॉलीवुड में अपने पहले कदम 2008 में फिल्म ‘जाने तू या जाने न’ से रखे थे. इसके अलावा वह ‘मुल्क’ और ‘एक दीवाना था’ जैसी फिल्मों में भी अपने अभिनय का लोहा मनवा चुके हैं. हाल ही में वह कामयाब वेब सीरीज ‘फोर मोर शॉट्स प्लीज’  में बारटेंडर जय के किरदार में दिखे थे.

इस कामयाबी से पहले उनकी जिंदगी में एक दौर ऐसा भी आया था जब वह ड्रग्स के आदी हो चुके थे. जी हां, प्रतीक बब्बर ने हाल ही में अपनी जिंदगी के कुछ कमजोर पलों के बारे में एक ओपन लेटर के जरिए बात की है.

ड्रग की लत और बिगड़ी शादी में कोई फर्क नहीं

इस लेटर में उन्होंने लिखा है कि ड्रग्स की लत एक बिगड़ी हुई शादी की तरह होती है. वह बहुत जल्द ही चरस और हैश से हटकर कोकेन जैसे हार्ड ड्रग्स की लत में फंस गए.

13 साल की उम्र में पहली बार लिए ड्रग्स

उन्होंने पहली बार ड्रग्स 13 साल की उम्र में लिए थे. इसका कारण उन्होंने बताया कि उनका बचपन कई मुश्किलों से भरपूर था. उनके मन में कई बातें होती थीं लेकिन ये बातें सुनने और समझने के लिए उनके पास कोई नहीं था. जैसे जैसे वक्त बीतता गया उन्हें ड्रग्स बेचने वालों के बारे में पता लगा और वह इस सब में और ज्यादा फंसते चले गए.

युवाओं के लिए चेतावनी

ये लेटर बीते हुए वक्त के बारे में बात करने से ज्यादा ड्रग्स के नशे में फंसे हुए युवाओं के लिए चेतावनी जैसा प्रतीत होता है. इस लेटर के जरिए प्रतीक ने बताने कि कोशिश की है कि ड्रग्स के चंगुल से बाहर निकलना मुमकिन है. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि इससे बाहर निकलने का सबसे अच्छा तरीका रिहैब है.

Related Posts