‘अंग्रेजों से पहले नहीं था भारत’ कहने वाले सैफ अली खान से सवाल- ईस्‍ट इंडिया कंपनी किसके नाम पर बनी?

सैफ अली खान ने कहा कि अंग्रेजों ने इंडिया का कॉन्‍सेप्‍ट दिया है. उन्‍होंने कहा कि 'तान्हाजी : द अनसंग वॉरियर' में पॉलिटिकल नैरेटिव को बदल दिया गया है.

सैफ अली खान इस वक्त ‘तान्हाजी : द अनसंग वॉरियर’ की कामयाबी को एंजॉय कर रहे हैं. फिल्‍म ने बाक्स ऑफिस पर 150 करोड़ का आंकड़ा पार कर लिया है. हालांकि सोशल मीडिया पर फिल्‍म की चर्चा सैफ के एक बयान की वजह से हो रही है. उन्‍होंने कहा कि ‘इंडिया का कॉन्‍सेप्‍ट अंग्रेजों ने दिया.’

सैफ अली खान ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा, “मुझे नहीं लगता कि पहले इंडिया का कोई कॉन्‍सेप्‍ट भी था. अंग्रेजों ने ये कॉन्‍सेप्‍ट दिया है.” ‘तान्हाजी’ में दिखाए गए इतिहास के बारे में बात करते हुए सैफ ने कहा मैं ‘तान्हाजी’ में इतिहास के साथ किए बदलाव पर चुप रहा. अगली बार कुछ ऐसा होता है तो मैं जरूर आवाज़ उठाऊंगा. मैं फिल्म के लिए इसलिए तैयार हो गया क्योंकि रोल बहुत अच्छा है. इसमें पॉलिटिकल नैरेटिव को बदल दिया गया है और ये खतरनाक है. लेकिन जब लोग इसे इतिहास कहते हैं तो मैं लोगों की बातों से सहमत नहीं हूं. मैं इतिहास को भलीभांति जानता हूं.”

सैफ को उनके इस कमेंट को लेकर सोशल मीडिया पर ट्रोल किया जा रहा है. इस वीडियो के बाहर आने के बाद से ही सैफ के बेटे तैमूर का नाम भी सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहा है.

सैफ ने इंटरव्यू में कहा कि “उन्हें ये देख कर बड़ा दुख होता है कि देश के लोग गलत रवैया अपना रहे हैं.” उन्होंने आगे कहा कि हमें भाईचारे के रास्ते से अलग किया जा रहा है. सैफ अली खान ने कहा कि जिस तरह से देश आगे बढ़ रहा है उससे ये साफ हो रहा है कि देश से सेक्युलरिज्म का नामो निशान मिट जाएगा.

ये भी पढ़ें

जिस तरह से देश आगे बढ़ रहा है उससे साफ है कि सेक्युलरिज्म का नामो निशान मिट जाएगा : सैफ

मेरी फिल्म का ट्रेलर ज्यादा अच्छा था, बेटी सारा की ‘Love Aaj Kal 2’ पर सैफ का रिएक्शन