• Home  »  बॉलीवुडमनोरंजन   »   गिनीज बुक में दर्ज है एसपी बालासुब्रमण्यम का नाम, गाए 40 हजार से भी ज्यादा गाने

गिनीज बुक में दर्ज है एसपी बालासुब्रमण्यम का नाम, गाए 40 हजार से भी ज्यादा गाने

74 साल की उम्र में बालासुब्रमण्यम (SP Balasubrahmanyam) ने कोरोना से एक लंबी जंग लड़ने के बाद चेन्नई के एमजीएम अस्पताल में शुक्रवार को आखिरी सांस ली.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 2:43 pm, Fri, 25 September 20
SP Balasubrahmanyam, SP Balasubrahmanyam Die, SP Balasubrahmanyam Covid
अब एसपी बालासुब्रमण्यम हमारे बीच नहीं रहे हैं.

दिग्गज गायक एसपी बालासुब्रमण्यम (SP Balasubrahmanyam), जिनका पूरा नाम श्रीपति पण्डितराध्युल बालासुब्रमण्यम है, उनका जन्म 4 जून 1946 में आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले के नगरी मंडल स्थित कोनेटम्मपेटी गांव में हुआ था. एसपी बालासुब्रमण्यम भारतीय फिल्मों के मशहूर पार्श्वगायक, अभिनेता, संगीत निर्देशक और फिल्म निर्माता थे. उन्हें एसपीबी अथवा बालु के नाम से भी बुलाया जाता था.

महान गायक एसपी बालासुब्रमण्यम ने इंजीनियरिंग की पढ़ाई की थी, लेकिन बचपन से ही उनको संगीत में रुचि थी, इसलिए वो इंजीनियरिंग की पढ़ाई के साथ-साथ संगीत की भी तालीम लेते थे. उन्होंने छः बार सर्वश्रेष्ठ पार्श्वगायक के लिए राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार और आन्ध्र प्रदेश सरकार द्वारा 25 बार तेलुगू सिनेमा में नन्दी पुरस्कार भी जीता.

ये भी पढ़ें- बालासुब्रमण्यम के निधन से शोक में देश, राजनेताओं से लेकर फिल्मी हस्तियों ने यूं जताया दुख

गिनीज बुक में दर्ज है नाम

बता दें कि बालासुब्रमण्यम अब तक चालीस हजार गाने गा चुके हैं, जो गिनीज बुक में रिकॉर्ड के तौर पर दर्ज हैं. 74 वर्षीय गायक बालासुब्रमण्यम ने हिंदी, तमिल, तेलुगू, कन्नड़, मलयालम के सिवा कई भाषाओं में गाने गाए हैं. बालासुब्रमण्यम को पहचान मिली के. बालचंद्र की फिल्म ‘एक दूजे के लिये’ के टाइटल ट्रैक से, जिसमें इनके गाए गीतों ने इतिहास रच दिया था.

बालासुब्रमण्यम को लोग सलमान खान की आवाज कहते हैं क्योंकि सलमान खान की पहली फिल्म “मैंने प्यार किया” का गाना  ‘आजा शाम होने आई’ से सलमान सुपरस्टार बन गए थे. उनकी और गायक की कामयाबी का सिलसिला ‘पहला पहला प्यार है’ तक बदस्तूर जारी रहा. “मैंने प्यार किया” के सभी गाने एसपी बालासुब्रमण्यम ने ही गाए थे.

ये भी पढ़ें- एसपी बालासुब्रमण्यम को श्रद्धांजलि देते हुए विश्वनाथन आनंद को याद आई 37 साल पुरानी घटना

कोरोना से जंग हारे बालासुब्रमण्यम

बताते चलें कि 74 साल की उम्र में बालासुब्रमण्यम ने कोरोना से एक लंबी जंग लड़ने के बाद चेन्नई के एमजीएम अस्पताल में शुक्रवार को आखिरी सांस ली. एसपी बालासुब्रमण्यम 5 अगस्त को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे, जिसके बाद वह एमजीएम अस्पताल में भर्ती हो गए थे. उन्हें कोरोना के बेहद हल्के लक्षण थे, लेकिन फिर भी उन्होंने कोई रिस्क न लेते हुए अस्पाताल में भर्ती होने का फैसला लिया था. तभी से वो लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर थे.