Birth Anniversary: घर पर लगवा लिया था ‘किशोर कुमार से सावधान’, पढ़ें- जीनियस से जुड़े 6 किस्से

किशोर कुमार (Kishore Kumar) की आवाज का हर कोई दीवाना था. क्या जवान और क्या बूढ़ा. आज भी किशोर कुमार के गाने घरों में बजते हैं. किशोर कुमार की 91वीं जयंती (Kishore Kumar Birth Anniversary) पर हर कोई उन्हें याद कर रहा है.
kishore kumar 91st birth anniversary, Birth Anniversary: घर पर लगवा लिया था ‘किशोर कुमार से सावधान’, पढ़ें- जीनियस से जुड़े 6 किस्से

4 अगस्त, ये वो दिन है जब अपनी मधुर आवाज से हर किसी को मदहोश करने वाले किशोर दा यानि किशोर कुमार (Kishore Kumar) का जन्म हुआ था. एक्टिंग, सिंगिंग, गीत लिखने, संगीत बनाने, स्क्रीन राइटिंग, निर्माता, फिल्म डायरेक्शन, सब में किशोर कुमार शानदार थे. सिनेमा के लगभग हर फार्मेट में उन्होंने कमाल करके दिखाया.

किशोर कुमार का जन्म 4 अगस्त, 1929 को मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के खंडवा शहर में एक बंगाली परिवार में हुआ था. किशोर कुमार के बचपन का नाम आभास कुमार गांगुली (Abhas Kumar Ganguly) था. किशोर कुमार के पिता का नाम कुंजलाल गागुली था, जो कि एक नामी वकील थे. उनकी मां का नाम गौरी देवी था. किशोर के बड़े भाई अशोक कुमार (Ashok Kumar) भी भारतीय सिनेमा की मशहूर हस्ती रह चुके हैं.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

किशोर कुमार की आवाज का हर कोई दीवाना

किशोर कुमार की आवाज का हर कोई दीवाना था. क्या जवान और क्या बूढ़ा. आज भी किशोर कुमार के गाने घरों में बजते हैं. किशोर कुमार की 91वीं जयंती पर हर कोई उन्हें याद कर रहा है. इस खास मौके पर आज हम आपके साथ किशोर कुमार की जिंदगी से जुड़े खास और मजेदार किस्से शेयर करने जा रहे हैं. ये ऐसे किस्से हैं, जो कि किशोर दा की खुराफात के गवाह  हैं.

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) ने किशोर कुमार की जयंती के मौके पर सुरों के सरताज और अभिनय के खिलाड़ी को श्रद्धांजलि दी है. शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट किया, “जिंदगी के हर पल को जिंदादिली के साथ जीने वाले, महान गायक, अभिनेता स्व. किशोर कुमार जी की जयंती पर नमन्. वह बहुत शान से ‘किशोर कुमार खंडवे वाले’ कहते हुए अपना परिचय देते थे. अपनी जड़ों से इतना प्रेम करने और सदा जुड़े रहने वाले अपने रत्न को मध्यप्रदेश कभी विस्मृत न कर सकेगा.”

ऐसे खराब आवाज बनी सुरीली

हर दिल अजीज किशोर कुमार बचपन से ही बहुत खुराफाती थे. किशोर कुमार का बचपन में गला खराब रहता था, जिस वजह से वे लगातार खांसते रहते थे. ऐसे में कोई सोच भी नहीं सकता था कि वे कभी सिंगर बन सकते हैं. बचपन में किशोर कुमार के साथ एक घटना घटी थी, जिसने उन्हें महान गायक बना दिया.

ये घटना किशोर कुमार के बेटे अमित कुमार ने एक शो के दौरान बताई थी. किशोर कुमार के पैर की एक उंगली कट गई थी. दर्द बहुत ज्यादा था और इतना था कि वे सारा समय रोते रहते थे. उस समय ऐसी दवाइयां भी नहीं थी जो कि तुरंत दर्द को कम कर सकें. अब दर्द के मारे किशोर कुमार का बहुत बुरा हाल था. वो सारा समय रोते रहते. यह सिलसिला करीब एक महीने तक चला और इसी कारण उनका गला साफ और सुरीला हो गया.

kishore kumar 91st birth anniversary, Birth Anniversary: घर पर लगवा लिया था ‘किशोर कुमार से सावधान’, पढ़ें- जीनियस से जुड़े 6 किस्से

मसूर की दाल देकर बनाया मसूरी घूमने का प्लान

किशोर कुमार को केवल दूसरे ही नहीं बल्कि वो खुद भी अपने आप को मनमौजी मानते थे. उन्हें बाजार जाकर अनोखी चीजें खरीदने का शौक था. कोई नहीं जानता था कि किशोर कुमार कब और क्या नया करेंगे. एक दिन वे मार्केट गए और वहां पर उन्होंने मसूर की दाल देखी. मसूर की दाल देखते ही वो अचानक मसूरी घूमने का प्लान बना बैठे थे.

गानों में किया यॉडलिंग टेकनीक का इस्तेमाल

किशोर कुमार की बायोग्राफी ‘किशोर कुमार: मेथड्स इन द मैडनेस’ में बताया गया है कि गानों में यॉडलिंग टेकनीक लेकर आने वाले किशोर दा ही थे. यॉडलिंग यानि गाने के हाई और लो पिच के बीच तेजी से बदलने वाला अंदाज पैदा करना. यह अंग्रेजी स्टाइल है.

किशोर कुमार ने ‘यॉडल-ए-ई-ऊ’ गाने में इसी टेकनीक का इस्तेमाल किया था. इसके बाद यॉडलिंग सिंगर्स के बीच एक फैशन बन गया था. कहा जाता है कि कई कलाकारों ने इस टेकनीक का इस्तेमाल करने की कोशिश की, लेकिन किशोर कुमार से अच्छा कभी कोई नहीं कर पाया.

kishore kumar 91st birth anniversary, Birth Anniversary: घर पर लगवा लिया था ‘किशोर कुमार से सावधान’, पढ़ें- जीनियस से जुड़े 6 किस्से

तुम उसकी शकल देखो और अपनी भी देखो

जब किशोर कुमार ने इंडस्ट्री में कदम रखा, तो उन्हें कोरस में खड़ा होने का मौका मिला. हालांकि वो कैमरे के सामने आकर अपने अभिनय को दिखाना चाहते थे, जिसका उन्हें उस दौरान मौका नहीं मिल रहा था. फिर भी वो ट्राई करते रहते थे. अशोक कुमार फिल्मों में अच्छा काम कर रहे थे. ऐसे में भाई के प्रयासों को देखकर अशोक कुमार ने किशोर को एक शख्स के पास भेजा.

उस शख्स ने किशोर कुमार को देखकर बोला कि ‘तुम्हारा बड़ा भाई हीरो है तो क्या तुम भी बन जाओगे? तुम उसकी शकल देखो और अपनी भी देखो. तुम हीरो नहीं बन सकते.’ किशोर कुमार के दिल को यह सुनकर बहुत चोट पहुंची थी. वे इस घटना को कभी नहीं भूल पाए. यही नतीजा था कि जब सालों बाद किशोर कुमार फेमस हो गए और वही शख्स उनके साथ फिल्म बनाने के लिए आया, तो किशोर कुमार ने उनके साथ काम करने से साफ इनकार कर दिया.

kishore kumar 91st birth anniversary, Birth Anniversary: घर पर लगवा लिया था ‘किशोर कुमार से सावधान’, पढ़ें- जीनियस से जुड़े 6 किस्से

जब डायरेक्टर के हाथ पर किशोर कुमार ने काटा

किशोर कुमार ने अपने वार्डन रोड स्थित फ्लैट पर बोर्ड लगवाया था, जिसपर लिखा- ‘किशोर से सावधान.’ कुछ अमाउंट देने के लिए किशोर के घर डायरेक्टर एसएच रवैल पहुंचे. किशोर ने उन्हें घर के अंदर नहीं आने दिया. उनसे गेट पर ही अमाउंट लिया और जब रवैल किशोर से हाथ मिलाने के लिए आगे बढ़े तो सिंगर-एक्टर ने उनके हाथ पर काट लिया. रवैल किशोर के इस व्यवहार से काफी अचंभित हुए और उनसे पूछा कि उन्होंने ऐसा क्यों किया, तो किशोर बोले- ‘क्या तुमने ये बोर्ड नहीं पढ़ा?’

अमेरिका से ले आए थे ढेर सारी इंग्लिश फिल्मों की कैसेट्स

अमित ने एक इंटरव्यू में बताया था कि किशोर कुमार को इग्लिश क्लासिक फिल्में देखने का बहुत शौक था. एक बार किशोर कुमार अमेरिका गए और वहां से जब वापस लौटे तो उनके साथ ढेर सारी इंग्लिश फिल्मों की कैसेट ले आए थे. किशोर कुमार फिल्मों को लेकर इतने क्रेजी थे कि एक बाद एक लगातार बैठकर वो कई फिल्में देख लेते थे.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts