मदर इंडिया, बैंडिट क्वीन, पिंक… बॉलीवुड की वो 10 फिल्में जिन्होंने उठाई महिलाओं की आवाज

बॉलीवुड में वुमेन सेंट्रिक फिल्में कम ही बनती हैं लेकिन कुछ फिल्में ऐसी भी हैं जिन्होंने महिलाओं को केंद्र में रखकर एक बेहतरीन कहानी पेश की है.
bollywood films based on Women, मदर इंडिया, बैंडिट क्वीन, पिंक… बॉलीवुड की वो 10 फिल्में जिन्होंने उठाई महिलाओं की आवाज

हैप्पी वुमेंस डे… अगर फेसबुक और व्हाट्सएप्प ये मैसेज पर ये सुन-सुनकर आप बोर हो चुकी हैं, तो कुछ वक्त अपने लिए भी निकालिए और खुद को स्पेशल फील कराइए. थिएटर जाइये या लैपटॉप उठाइये और एन्जॉय करिए बॉलीवुड की कुछ ऐसी फिल्मों के साथ जो न सिर्फ आपको आपकी शक्ति का एहसास कराएंगी बल्कि आगे बढ़ने के लिए भी प्रेरित करेंगी.

वैसे तो बॉलीवुड में वुमेन bollywood films based on Women सेंट्रिक फिल्में कम ही बनती हैं लेकिन कुछ फिल्में ऐसी भी हैं जिन्होंने महिलाओं को केंद्र में रखकर एक बेहतरीन प्रस्तुति दी है. आइए जानते हैं ऐसी ही कुछ बॉलीवुड फिल्मों के बारे में, जो सिर्फ आपके लिए बनी हैं.

मदर इंडिया (1957): महबूब खान निर्देशित और नरगिस व सुनील दत्त के सधे हुए अभिनय से सजी हुई यह फिल्म उस समय की सबसे महंगी और सबसे अधिक कमाई करने वाली फिल्म थी. यह कहानी है गांव की एक गरीब राधा की जोकि तमाम मुश्किलों से लड़ते हुए अपने दो बच्चों को पालती है.

उसूलों पर चलते हुए अपने ही बेटे का खून अपने हाथों करने के कारण राधा पूरे गांव में न्याय की देवी के रूप में जानी जाती है. यह फिल्म उस जमाने में स्त्री शक्ति पर बल डालती है जब औरत अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रही थी.

दामिनी (1993): मीनाक्षी शेषाद्रि अभिनीत और राजकुमार संतोषी के निर्देशन में बनी इस फिल्म ने रेप जैसे सेंसिटिव मुद्दे को बॉलीवुड में तब उठाया था जब लोग इस पर बात भी करने से डरते थे.

bollywood films based on Women, मदर इंडिया, बैंडिट क्वीन, पिंक… बॉलीवुड की वो 10 फिल्में जिन्होंने उठाई महिलाओं की आवाज

गरीब नौकरानी को न्याय दिलाने की कोशिश में लगी दामिनी को उसके ही परिवार वाले पागल करार देते हैं क्योंकि आरोपी उसका देवर था. इन विपरीत हालातों से लड़ते हुए किस तरह दामिनी नौकरानी को न्याय दिलाने में सफल होती है, यह ही फिल्म की कहानी है.

बैंडिट क्वीन (1994): दस्यु सुंदरी फूलन देवी के जीवन पर बनी यह फिल्म कहानी है एक ऐसी औरत की जो बाल विवाह, शारीरिक शोषण और जातिवाद से संघर्ष करते हुए अंत में डाकू बन जाती है. सीमा बिस्वास के सधे हुए अभिनय और शेखर कपूर के कुशल निर्देशन में बनी इस फिल्म को नेशनल अवॉर्ड मिला था.

चांदनी बार (2001): मुंबई अंडरवर्ड, वेश्यावृत्ति और डांस बार की कड़वी सच्चाई को बयान करती इस फिल्म को चार नेशनल अवॉर्ड मिले थे. बार के दलदल में फंसी चांदनी कैसे तमाम कोशिशों के बाद भी उससे निकल नहीं पाती है, फिल्म इसी के इर्द-गिर्द घूमती है. तब्बू फिल्म की हीरोइन और मधुर भंडारकर निर्देशक हैं.

इंग्लिश विंग्लिश (2012): यह फिल्म कहानी है स्नैक्स का बिजनेस करने वाली एक महिला शशि की, जो उम्र के 40वें पड़ाव पर इंग्लिश स्पीकिंग क्लासेज में एडमिशन लेती है ताकि उसके पति और बेटी उसका मजाक न बनाएं.

किस तरह इंग्लिश सीखते हुए वह अपना खोया आत्मविश्वाश हासिल करती है, ये इस फिल्म में खूबसूरती से दिखाया गया है. शशि की भूमिका में श्रीदेवी और निर्देशन गौरी शिंदे का था.

द डर्टी पिक्चर (2012 ): साउथ इंडियन एक्ट्रेस सिल्क स्मिता के जीवन पर बनी इस फिल्म ने तीन नेशनल अवार्ड्स जीते थे. इस फिल्म को विद्या बालन के सधे हुए अभिनय के लिए जाना जाता है. सिल्क स्मिता को फिल्मों में अपने कामुक रोल के लिए जाना जाता है. फिल्म का निर्देशन एकता कपूर ने किया था.

bollywood films based on Women, मदर इंडिया, बैंडिट क्वीन, पिंक… बॉलीवुड की वो 10 फिल्में जिन्होंने उठाई महिलाओं की आवाज

क्वीन (2014 ): यह फिल्म दिल्ली में रहने वाली पंजाबी लड़की रानी की कहानी कहती है, जो बॉयफ्रेंड के शादी से एक दिन पहले रिश्ता तोड़ देने पर अकेले ही हनीमून पर विदेश निकल जाती है. रानी की भूमिका में कंगना रनौत ने जान डाल दी थी. फिल्म का म्यूजिक भी काफी अपीलिंग था.

पिंक (2016 ): अमिताभ बच्चन , तापसी पन्नू, कीर्ति कुलकर्णी के बेहतरीन अभिनय से सजी यह फिल्म बात करती है महिलाओं की तरफ सेंसिटिव होने और उनके विचारो को इज्जत देने की. इस फिल्म को राष्ट्रपति भवन में फीचर किया गया था. फिल्म के निर्देशक अनिरुद्ध रॉय चौधरी हैं.

लिपस्टिक अंडर माय बुर्का (2017): रत्ना पाठक शाह, अहाना कुमरा, कोंकणा सेन शर्मा जैसे कलाकारों की बेहतरीन एक्टिंग से सजी यह फिल्म कहानी है चार महिलाओं की, जो अपनी आजादी की तलाश में सोसाइटी से लड़ती हैं और अपने हक की लड़ाई जीतने में सफल भी होती हैं. यह पूरी तरह वीमेन ओरिएंटेड फिल्म है जो महिलाओं की आजादी की बात काफी बोल्ड स्टाइल में करती है.

थप्पड़ (2020 ): अनुभव सिन्हा के निर्देशन में बनी और तापसी पन्नू की एक्टिंग से सजी यह फिल्म कहानी है एक ऐसी औरत की, जो अपने पति के एक थप्पड़ मारने पर तलाक की अर्ज़ी दायर करती है.

Related Posts